यह है हेपेटाइटिस
हेपेटाइटिस एक तरह का लीवर इन्फेक्शन है जिससे लीवर में सूजन आ जाती है। हेपेटाइटिस के पाँच प्रकार के वायरस होते हैं। वह हैं ए,बी,सी,डी और ई। पांच प्रकार के हेपेटाइटिस में से बी एवं सी से लोग सबसे ज्‍यादा ग्रसित हैं। ये दोनों प्रकार के हेपेटाइटिस सबसे ज्‍यादा खतरनाक भी है। आइए जानते है हेपेटाइटिस के पांच प्रकार के वायरस के बारे में और यह भी कि आखिर शरीर इन सभी वायरस के कॉन्‍टेक्‍ट में कैसे आ जाता है।

हेपेटाइटिस ए वायरस (HAV)
हेपेटाइटिस ए जैसी गंभीर बीमारी हेपेटाइटिस ए वायरस (HAV) की वजह से होती है। डब्ल्यूए के अनुसार हर साल 1.4 मिलयन लोग इस बीमारी से ग्रस्त हो रहे हैं। यह वायरस आमतौर पर संक्रमित खाना खाने और पानी पीने से होता है। इस बीमारी के मरीज के साथ सेक्‍स करने से भी लोग इसकी चपेट में आ जाते हैं। इसको महामारी रोग कहा जाता है क्‍योंकि यह एक संक्रमित व्‍यक्‍ति से दूसरे व्‍यक्‍ति को हो जाता है।

हेपेटाइटिस बी वायरस (HBV)
हेपेटाइटिस बी हेपाटाइटिस बी वायरस (HBV) के कारण होने वाली एक संक्रामक बीमारी है। यह संक्रमित व्‍यक्‍ति के खून और अन्‍य शारीरिक तरल पर्दार्थ के संपके में आने से फैलता है। यह गर्भावस्‍था में प्रसव के दौरान संक्रमित मां से बच्‍चे को भी होने का खतरा होता है।
जरूरी है हेपेटाइटिस के पांच खतरनाक वायरस के बारे में जानना
हेपेटाइटिस सी वायरस (HCV)
हेपेटाइटिस सी हेपेटाइटिस सी वायरस (HCV) के कारण होता है। `यह  इन्फेक्टेड  ब्लड और इन्जेक्शन के इस्तेमाल से लोगों में फैलता है। बता दें कि हेपेटाइटिस सी के लिए अबतक कोई वैक्‍सीन नहीं बना है।

हेपेटाइटिस डी वायरस (HDV)
हेपेटाइटिस डी वायरस (HDV) के कारण लोगों में हेपेटाइटिस डी होता है। जो लोग पहले से एचबीवी वायरस के इन्फेक्टेड होते हैं वे ही इस वायरस से संक्रमित होते हैं। एचडीवी और एचबीवी दोनों के एक साथ होने के कारण स्थिति और भी खतरनाक हो जाती है।

हेपेटाइटिस ई वायरस (HEV)
हेपेटाइटिस ई होने का कारण हेपेटाइटिस ई वायरस (HEV) है। दुनिया के ज्यादातर देशों में हेपेटाइटिस के संक्रमण का यही कारण है। यह भी संक्रमित पानी और खाना के कारण फैलता है। इसके लिए काफी सेफ और कारगर इंजेक्‍शन बन चुके हैं लेकिन आमतौर  नर इसका मिलना थोड़ा असंभव होता है।

Health News inextlive from Health Desk

inextlive from News Desk