चोरों ने बना दिया कंगाल
एक बात तो तय है. पुलिस कुछ भी कर लें. लेकिन, वह चोरों को नहीं रोक सकती. आप खुद तय कर लें कि आपको करना क्या है. क्योंकि, ताला बंद घर मिला नहीं कि चोर उसे साफ करने में जरा भी देर नहीं लगाते. हाजी गुलाम रसूल के घर का ही उदाहरण ले लीजिए. पूरा खानदान जुटा था. बेटी को विदा करने की रस्में पूरी हो रही थीं. गलती सिर्फ इतनी हो गई कि वे लोग शादी की पूरी ज्वैलरी घर में ही छोड़कर चले गए. विदाई से कुछ घंटे पहले परिवार के सदस्य घर पहुंचे तो वहां का नजारा देखकर सन्नाटे में आ गए. चोर पूरा घर खाली कर चुके थे. इसमें करीब 22 तोला सोना के अलावा कैश व अन्य सामान था.

विदेश में भाई करता है जॉब
हाजी गुलाम रसूल करेली के 404 ए तुलसीपुर में रहते हैं. हाजी गुलाम की अपनी शॉप है. उनके छह बेटे अफरोज आलम, अहमद मंसूरी्र इस्तिखाब, बैजू, रब्बानी व शहनवाज और चार बेटियां हैं. सभी बेटे जॉब करते हैं. अहमद मंसूरी और इस्तिखाब सउदी अरब में जॉब करते हैं. बाकी चारों भाइयों का शहर में ही कोई न कोई बिजनेस है. चार बहनों में तीन की शादी हो चुकी है. विदेश में जॉब करने के कारण दोनों भाइयों की इनकम अच्छी हो गई जिससे घर की हालत में काफी सुधार हो गया था.

सबसे छोटी बहन की शादी
हाजी गुलाम ने अपनी छोटी बेटी रिजवाना की शादी तय कर दी थी. सबसे छोटे बेटे शहनवाज की शादी भी लगभग फिक्स हो गई. भाई बहन की शादी के लिए विदेश गए दोनों भाई अपने शहर लौटे थे. 27 अक्टूबर को रिजवाना की शादी साठ फीट रोड पर स्थित एक गेस्ट हाउस से होनी थी. सब कुछ ठीक चल रहा था. फैमिली मेम्बर्स सीधे गेस्ट हाउस पहुंच गए और घर पर ताला बंद कर दिया.

लाखों का माल गायब
रात में करीब तीन बजे शादी के दौरान किसी सामान की जरूरत पड़ी. सामान लेने रिजवाना का भाई अपने घर पहुंचा तो सामने का सीन देखकर उसके होश उड़ गए. चोरों ने पूरा घर खंगाल डाला था. उसने फोन पर बताया तो घर के बाकी सदस्य भी वहां पहुंच गए. उन्होंने पुलिस को इस घटना की जानकारी दी. करेली पुलिस ने रात में ही जांच के लिए डॉग स्क्वाड और फोरेंसिक एक्सपर्ट को बुला लिया. प्रारम्भिक जांच में पता चला कि चोर पीछे के रास्ते से घर की बाउंड़ी में पहुंचे थे और खिड़की का ग्रिल काट कर घर के भीतर. घर तीन फ्लोर का है. चोरों ने एक-एक करके तीनों फ्लोर का ताला तोड़ा और पूरे घर की सफाई कर दी. उन्होंने कुल पांच कमरों का ताला तोड़ा और पांच आलमीरा में रखे 22 तोला सोने की ज्वैलरी, 2 लाख रुपए कैश व अन्य सामान उड़ा दिए. थर्ड फ्लोर पर चोर एक कमरे का आधा ताला ही काट सके थे. इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि चोरों ने घर में रहने के दौरान ही किसी के आने की आहट को भांप लिया था और भाग निकले.  

दो किलोमीटर तक पहुंचा डॉग
फोरेंसिक एक्सपर्ट प्रेम भारतीय को कई चोरों के फिंगर प्रिंट मिले हैं. डॉग स्क्वॉड ने चोरों की गंध ली और वहां से निकल पड़ा. सुबह चार बजे तक पुलिस डॉग के पीछे पीछे लगी रही. डॉग तुलसीपुर से दो किलोमीटर आगे रसूलपुर एरिया में तक पहुंचा. अब पुलिस को इस बात का प्रमाण मिल गया कि चोर रसूलपुर एरिया के रहने वाले हैं.

बेटी और बहुओं की ज्वैलरी
अफरोज आलम ने आई नेक्स्ट रिपोर्टर को बताया कि बेटी की विदाई के लिए ज्वैलरी बनवाई गई थी. भाई की शादी भी तय हो चुकी थी इसलिए बहू की ज्वैलरी भी खरीद ली गई थी. चोरों ने पूरी फैमिली की ज्वैलरी उड़ा कर सभी को कंगाल बना दिया.

आई नेक्स्ट एलर्ट
-कोशिश करें कि घर में ज्वैलरी न ही रखें
-घर की जगह बैंक के लॉकर में ज्वैलरी रखें
-घर के अंदर सीसीटीवी कैमरा लगाएं और सिक्योरिटी बढ़ाए
-घर में कोई फंक्शन है तो हर पल  एलर्ट रहें
-कहीं बाहर जाना है तो ताला बंद करने की गलती न करें
-किसी रिलेटिव या साथी को वहां पर रुकने के लिए बोलें
-दो चार दिन के लिए सिक्योरिटी गार्ड हायर कर लें

करोड़पति बन गए चोर
पिछले एक महीने की बात करें तो शहर में चोरों ने जितनी घटनाएं अंजाम दी हैं, उससे वे अब तक करोड़पति बन चुके हैं. लाखों रुपए कैश और लाखों का माल और करोड़ों की ज्वैलरी उनके पास है. दो दिन पहले ही सिविल लाइंस मोबाइल शॉप से चोरों ने 22 लाख का माल और साढ़े पांच लाख कैश उड़ाया था. उससे पहले सिविल लाइंस में ही दस लाख की चोरी हुई थी. इसी तरह कोठापार्चा एरिया से चोरों ने सीसीटीवी कैमरा लगा होने के बावजूद 50 लाख से ज्यादा की ज्वैलरी उड़ा दी.  

चोरों की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर जांच के लिए पहुंची थी. डॉग स्क्वाड की मदद से जांच में पुलिस सुबह तक लगी रही. उम्मीद है कि जल्द ही चोरों का पता चल जाएगा.
-गोपाल कृष्ण गुप्ता
करेली इंस्पेक्टर