गवर्नमेंट ने 10 अक्टूबर के बाद जीएसटीआर-1 भरने पर 200 रुपये पर डे लगाई है पेनाल्टी

30 तक नहीं खुला पोर्टल तो प्रत्येक व्यापारी को 4200 रुपये देनी होगी पेनाल्टी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: जुलाई महीने का जीएसटीआर-1 भरने के लिए 10 अक्टूबर तक का समय निर्धारित किया गया था. इसके बाद 200 रुपये पर डे पेनाल्टी का आदेश है. अब दो दिन से पोर्टल बंद चल रहा है. व्यापारी परेशान हैं कि यदि 30 अक्टूबर तक पोर्टल नहीं चला तो प्रत्येक व्यापारी को करीब 4200 रुपये एक्स्ट्रा पेनाल्टी भरनी पड़ेगी.

15 हजार व्यापारी चपेट में

गवर्नमेंट ने डेढ़ करोड़ तक का बिजनेस करने वाले व्यापारियों को मंथली रिटर्न से राहत दी है, लेकिन जुलाई का रिटर्न तो सभी को भरना है. इसके लिए जीएसटीआर-1 भरने के लिए 10 अक्टूबर लास्ट डेट थी. डेट निकलने के बाद भी इलाहाबाद में करीब 15 हजार व्यापारी इसे भर नहीं सके हैं.

पोर्टल क्यों बंद क्यों किया गया?

10 अक्टूबर तक जीएसटीआर-1 की डेट निकलने के बाद पर डे 200 रुपये पेनाल्टी देकर जीएसटीआर-1 दाखिल की जा सकती है. अब दो दिन से पोर्टल बंद है. व्यापारी चाहकर इसे भर नहीं पा रहे हैं.

भरना होगा मंथली रिटर्न

जुलाई, अगस्त और सितंबर महीने का रिटर्न तो सभी व्यापारियों को भरना होगा. क्योंकि क्वाटर्ली रिटर्न का सिस्टम अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर से शुरू होगा. इसके पहले का मंथली रिटर्न सभी को भरना है. अभी तक केवल जुलाई की डेट आई है. इसके तहत 10 अक्टॅबर तक जीएसटीआर-1, 30 अक्टूबर तक जीएसटीआर-3 और पांच नवंबर तक जीएसटीआर थ्री भरा जाएगा.

वर्जन-

जीएसटी लागू होने के बाद घुमा-फिरा कर व्यापारी का ही कान पकड़ा जा रहा है. गवर्नमेंट की पॉलिसी और जीएसटी पोर्टल की समस्या के कारण करीब 15 हजार व्यापारी अभी तक जीएसटी आर-1 नहीं भर सके हैं. व्यापारी पेनाल्टी के साथ जीएसटीआर-1 भरने को तैयार हैं, लेकिन पोर्टल ही बंद हो चुका है.

महेंद्र गोयल, प्रदेश अध्यक्ष, कैट

व्यापारियों को राहत के लिए ही जुलाई का जीएसटीआर-1 भरने की लास्ट डेट 10 अक्टूबर निर्धारित की गई थी. इसके बाद भी व्यापारी नहीं भर सके हैं तो ये उनकी गलती है. रही बात पोर्टल बंद होने की तो हो सकता है तकनीकी दिक्कत से बंद हुआ हो, जल्द ही चालू हो जाएगा.

राम प्रसाद

एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-2

सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट