2477

सरकारी प्राथमिक विद्यालय हैं कुल जिले में

1001

उच्च प्राथमिक विद्यालय हैं शहर-देहात मिलाकर

15000

रुपए प्रत्येक स्कूल में इलेक्ट्रिक वायरिंग पर खर्च किया जायेगा

6000

रुपए स्कूल में पंखा व ट्यूबलाइट लगाने पर खर्च किया जायेगा

05

पंखे और पांच एलईडी या सीएफएल बल्ब लगाये जाएंगे एक स्कूल में

20

वाट का एक एलईडी बल्ब व एक पंखा स्कूल के बरामदे में लगाया जाएगा

01

पंखा व 15 वाट का एक एलईडी या सीएफएल प्रधानाध्यापक कक्ष में लगाया जाएगा

20

वाट का एलईडी या सीएफएल व एक पंखा प्रत्येक कक्ष में लगाया जाएगा

1600

विद्यालयों के लिए बजट आवंटित करने को भेजा गया था प्रस्ताव

1427

विद्यालयों के लिए आवंटित हुआ है धन

05

उच्च प्राथमिक विद्यालय भी हैं इसमें शामिल

538

जूनियर हाईस्कूलों में पिछले साल हुआ था कनेक्शन

2.25

करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे स्कूलों की ध्वस्त बाउंड्री वॉल बनाने में

हेडिंग जिले के प्राइमरी और उच्च प्राथमिक विद्यालयों की सूरत बदलने को जारी हुआ बजट

जिले के बेसिक व सीनियर बेसिक स्कूलों में विद्युतीकरण के लिए जारी हुए साढ़े तीन करोड़ रुपए

स्कूलों में बिजली कनेक्शन के लिए पॉवर कारपोरेशन को सीधे जारी हुआ बजट

<ख्ब्77

सरकारी प्राथमिक विद्यालय हैं कुल जिले में

क्00क्

उच्च प्राथमिक विद्यालय हैं शहर-देहात मिलाकर

क्भ्000

रुपए प्रत्येक स्कूल में इलेक्ट्रिक वायरिंग पर खर्च किया जायेगा

म्000

रुपए स्कूल में पंखा व ट्यूबलाइट लगाने पर खर्च किया जायेगा

0भ्

पंखे और पांच एलईडी या सीएफएल बल्ब लगाये जाएंगे एक स्कूल में

ख्0

वाट का एक एलईडी बल्ब व एक पंखा स्कूल के बरामदे में लगाया जाएगा

0क्

पंखा व क्भ् वाट का एक एलईडी या सीएफएल प्रधानाध्यापक कक्ष में लगाया जाएगा

ख्0

वाट का एलईडी या सीएफएल व एक पंखा प्रत्येक कक्ष में लगाया जाएगा

क्म्00

विद्यालयों के लिए बजट आवंटित करने को भेजा गया था प्रस्ताव

क्ब्ख्7

विद्यालयों के लिए आवंटित हुआ है धन

0भ्

उच्च प्राथमिक विद्यालय भी हैं इसमें शामिल

भ्फ्8

जूनियर हाईस्कूलों में पिछले साल हुआ था कनेक्शन

ख्.ख्भ्

करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे स्कूलों की ध्वस्त बाउंड्री वॉल बनाने में

हेडिंग जिले के प्राइमरी और उच्च प्राथमिक विद्यालयों की सूरत बदलने को जारी हुआ बजट

जिले के बेसिक व सीनियर बेसिक स्कूलों में विद्युतीकरण के लिए जारी हुए साढ़े तीन करोड़ रुपए

स्कूलों में बिजली कनेक्शन के लिए पॉवर कारपोरेशन को सीधे जारी हुआ बजट

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: बच्चों को बैठना तो अभी भी टाट पट्टी पर ही होगा लेकिन, डेढ़ हजार से अधिक स्कूलों में बेसिक सुविधाएं नए शैक्षिक सत्र से बढ़ जाएंगी। भीषण गर्मी में अब बच्चों को तपना नहीं पड़ेगा। खिड़कियां खोलकर रखना भी मजबूरी नहीं होगी क्योंकि सरकार ने पंखे के साथ ही क्लास में एलईडी-सीएफएल का इंतेजाम कर दिया है। बजट जारी कर दिया गया है। स्कूलों की बाउंड्री वॉल भी इसी दौरान दुरुस्त हो जायेगी क्योंकि इसके लिए भी सेपरेट बजट जारी किया गया है। चोरों से सब कुछ बचा रह गया तो सरकारी स्कूलों में बच्चों को काफी सुविधाएं मिल जाएंगी जो सरकार के बेहतर माहौल में शिक्षा के मिशन को आगे ले जाने में मील का पत्थर साबित होंगी।

बायोमिट्रिक अटेंडेंस की भी तैयारी

सरकार का फोकस सरकारी स्कूलों में टीचर्स और बच्चों की उपस्थिति की एक्चुअल स्टेटस जानना है। विद्युतीकरण का काम पूरा होने के बाद स्कूलों में बायोमिट्रिक सिस्टम लगाया जायेगा ताकि प्रत्येक टीचर और बच्चें की अटेंडेंस लाइव हो जाय। इससे यह भी पता चल जायेगा कि कौन किस टाइम पर स्कूल में पहुंच रहा है और अब निकल रहा है। यह सिस्टम डेवलप हो जाने के बाद उन टीचर्स और शिक्षा मित्रों पर लगाम लगायी जा सकेगी जो या तो स्कूल आते ही नहीं या फिर आने के कुछ ही देर बाद यहां से निकल जाते हैं। विद्युतीकरण के लिए शासन की ओर से करीब साढ़े तीन करोड़ का बजट जारी हो जाने के बाद विद्युतीकरण कार्य को लेकर बीएसए व खंड शिक्षा अधिकारियों की मीटिंग भी हो चुकी है।

क्म्00 से अधिक स्कूलों का चयन

शासन की ओर से जिले में विद्युतीकरण के लिए जारी स्कूलों की सूची में बेसिक स्कूलों की संख्या क्क्ब्ख्7 है। पांच सीनियर बेसिक स्कूलों को इसमें शामिल किया गया है। इन स्कूलों में वायरिंग, पंखे व ट्यूब लाइट आदि के लिए अलग-अलग दर से धनराशि देने का निर्देश दिया गया है। विद्युत फिटिंग व पंखे, ट्यूबलाइट या एलईडी लाइट लगवाने की जिम्मेदारी स्कूल की प्रबंध समिति को दी जाएगी।

इन तथ्यों का रखना होगा ध्यान

विद्युतीकरण में प्रयोग होने वाले सभी सामान आईएसआई मार्क का होना अनिवार्य है

एक बल्ब या सीएफएल के लिए अधिकतम फ्00 रुपए व प्रति पंखा क्भ्00 रुपए निर्धारित

वायरिंग व विद्युत फिटिंग के कार्य विद्यालय प्रबंध समिति द्वारा ही शासनादेश के प्रावधानों के अनुरूप होंगे

सरकार ने स्कूलों में बिजली का कनेक्शन करने के लिए बजट जारी किया है। इसकी सूचना तो आ गयी है। कितने स्कूलों के लिए कितना बजट आवंटित किया गया है, इसका डिटेल अभी नहीं आया है।

एमसी शर्मा

चीफ इंजीनियर, पॉवर कारपोरेशन प्रयागराज

स्कूलों में बिजली कनेक्शन और वहां लाइट-पंखे की व्यवस्था के लिए शासन से बजट जारी कर दिया गया है। नेक्स्ट सेशन में स्कूल आने वाले चयनित स्कूलों के बच्चों को सुविधा मुहैया हो जाएगी।

संजय कुमार कुशवाहा

बीसए, प्रयागराज