GORAKHPUR: खोराबार एरिया के जंगल रामलखना में डिप्टी रेंजर पर हमला करके फरार तीन बदमाशों को पुलिस ने अरेस्ट किया. बदमाशों के पास से पुलिस को तमंचा और कारतूस भी मिला. पकड़े गए बदमाशों के खिलाफ पहले से कई मामले दर्ज हैं. इंस्पेक्टर सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि अन्य अभियुक्तों की तलाश चल रही है. जल्द ही उनको भी दबोच लिया जाएगा. जंगल में लकड़ी तस्करों की सक्रियता को देखते हुए पुलिस गश्त भी बढ़ा दी गई है. शनिवार रात जंगल रामलखना में पेड़ काटने की सूचना पर तिनकोनिया रेंज के डिप्टी रेंजर ने टीम सहित दबिश दी. पकड़े जाने के डर से लकड़ी तस्करों ने गोलियां दागनी शुरू कर दी. बदमाशों के हमले में डिप्टी रेंजर घायल हो गए. जंगल में मुठभेड़ की सूचना पर पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. इस मामले में तस्करों के खिलाफ जानलेवा हमला सहित कई धाराओं में केस दर्ज कराया गया. पुलिस टीम अभियुक्तों की तलाश में जुटी थी. रविवार की रात पौने 12 बजे तीन अभियुक्तों के कहीं बाहर भागने की सूचना इंस्पेक्टर को मिली. विनोद वन के पास पुलिस ने तीन युवकों को दबोच लिया. पूछताछ में उनकी पहचान खोराबार एरिया के रामगढ़ अहिरवाती टोला निवासी राजेश निषाद, जंगल रामलखना निवासी मनोहर प्रजापति और जगतबेला निवासी सिराज के रूप में हुई. मनोहर के खिलाफ पहले से आठ से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हैं. जबकि राजेश और सिराज पहली बार पुलिस के शिकंजे में आए हैं.