मोती लाल नेहरु राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में तीन दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन नौ मार्च से

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: मोती लाल नेहरु राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएनएनआईटी) का जैव प्रौद्योगिकी विभाग सीएसआईआर, डीएसटी तथा टीईक्यूआईपी तृतीय के सहयोग से अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन बॉयो संगम 2018 का आयोजन करने जा रहा है. अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन के मुख्य अतिथि सिंगापुर में नेशनल युनिवर्सिटी के प्रो. झियाआन गोंग होंगे. इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन बॉयो संगम 2018 का मुख्य उद्देश्य जैव प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में किए गए नवीन शोधों एवं इनके विभिन्न आयामों की चर्चा करना है.

इन इश्यूज पर होगा फोकस

तीन दिवसीय सम्मेलन में अमेरिका, सिंगापुर, ग्रीस, नीदरलैन्ड तथा दक्षिण कोरिया के अलावा देश विदेश के जाने माने सुविख्यात वैज्ञानिकों द्वारा जैव प्रौद्योगिकी में इनोवेशन, पेटेन्ट, आईपीआर एवं लाइसेन्स के मुद्दे, कौशल विकास, वैश्विक भागेदारी, स्टार्टअप, जैव सुरक्षा विनियम, बौद्धिक सम्पदा अधिकार, कृषि पर्यावरण और जैव प्रौद्योगिकी, बायो प्रोसेसिंग, कृषि उद्योग, पशुधन, कीट, डीएनए तकनीक, स्वदेशी फूड प्रोडक्शन, ट्रांस्जेनिक पौधे एवं सूक्ष्म जीव विज्ञान, शरीर विज्ञान एवं आणविक जीव विज्ञान, नैनो जैव प्रौद्योगिकी, नैनो विष विज्ञान, मेडिकल जैव प्रौद्योगिकी, जैविक दवा निर्माण, क्लीनिकल रिसर्च/नैदानिक परीक्षण, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता रोग जीनो मिक्स, बायोफिल्म जैव सूचना विज्ञान तथा कम्प्यूटेशनल बायोलॉजी तथा औद्योगिक जैव प्रौद्योगिकी इत्यादि विषयों की विस्तार से चर्चा की जायेगी.

काम प्रस्तुत करने का मौका

संस्थान के निदेशक प्रो. राजीव त्रिपाठी ने पूर्व में आयोजित बॉयो संगम के सफल आयोजन की सराहना करते हुए कहा है कि इस प्रकार के सम्मेलन के माध्यम से युवा वैज्ञानिकों एवं शोधार्थियों को दुनिया के अलग अलग हिस्सों से आए सुप्रसिद्ध वैज्ञानिकों के सामने अपने कार्य को प्रस्तुत करने का अवसर मिलता है. उन्होंने बताया कि इन युवा वैज्ञानिकों को अपने उत्कृष्ट कार्य के लिए बॉयो संगम युवा वैज्ञानिक पुरस्कार 2018 के नाम से सम्मानित भी किया जायेगा. बॉयो टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शिवेश शर्मा ने बताया कि प्रोग्राम का आयोजन 09 मार्च से 11 मार्च तक होगा.