-नोएडा से आगरा जाते समय सुरीर के समीप आयशर कैंटर में पीछे से घुसी थी इनोवा

संवादसूत्र, सुरीर: यमुना एक्सप्रेस वे पर शनिवार की रात नोएडा से आगरा की ओर जा रही इनोवा कार सुरीर क्षेत्र में आगे चल रहे आयशर कैंटर में पीछे से घुस गई. कार में सवार एम्स के तीन डॉक्टरों की घटना स्थल मौत हो गई और चार डॉक्टर घायल हो गए. मृतकों में एक महिला डॉक्टर भी शामिल हैं. घायलों एम्स मे उपचार चल रहा है. साथी डॉक्टर और रिश्तेदार शवों को पोस्टमार्टम से दिल्ली ले गए.

अखिल आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) नई दिल्ली में कार्यरत डॉ. हर्षद वानखेड़े का जन्मदिन मनाने साथी डॉक्टर्स इनोवा कार सीएच 01 एएस- 2431 से शनिवार रात दिल्ली से आगरा के लिए जा रहे थे. इनोवा को डॉ. हर्षद चला रहे थे. थाना सुरीर क्षेत्र में माइल स्टोन 88 के समीप शनिवार की रात करीब ढाई बजे आगे लोहे की एंगल और सरिया लेकर चल रहे आयशर कैंटर यूपी 80 सीटी- 3875 में पीछे इनोवा कार घुस गई. स्पीड आधिक होने से कार के पच्खच्चे उड़ गए. कैंटर से बाहर निकल रही सरिया इनोवा फंस गई. इनोवा को कैंटर करीब डेढ़ सौ मीटर तक इनोवा को घसीटते हुए ले गया. फंसी कार को निकलता न देख कर कैंटर के चालक और क्लनीर घबड़ा गए. वे कैंटर को घटनास्थल पर ही छोड़ करके भाग गए. सूचना पर पुलिस और एक्सप्रेस वे के रेस्क्यू टीम भी पहुंच गई. कार में फंसे डॉक्टरों को बाहर निकाला. तब तक डॉ. हर्षद वानखेड़े (35) पुत्र भास्कर वानखेड़े निवासी गयेगांव तहसील बालापुर जनपद अकोला महाराष्ट्र, डॉ. हेमबाला (25) पुत्री महेंद्रपाल तनेजा निवासी हुडा जगादरी यमुनानगर हरियाणा, डॉ.यशप्रीत (25) पुत्र तेजेंदर सिंह निवासी आहूजा स्ट्रीट फजलिका, पंजाब की मौत हो चुकी थी. डॉ. महेश पुत्र उदय कुमार निवासी मधुबनी बिहार, डॉ. अभिनवा पुत्री दिलीप कुमार निवासी भगलपुर बिहार, कैथरीन हलम पुत्री जॉन हलम निवासी त्रिपुरा और डॉ. जितेंद्र मौर्य पुत्र कालका प्रसाद निवासी हमीरपुर जनपद दतिया मध्यप्रदेश गंभीर रूप से घायल हो गए. पुलिस ने घायलों को एबुंलेंस से भास्कर हॉस्पीटल लाया गया, लेकिन हालत गंभीर होने पर घायल डाक्टरों को रात में ही एम्स दिल्ली के लिए रेफर कर दिया गया था. दोपहर बाद मृतक डॉक्टरों के साथी और रिश्तेदार भी आ गए. पुलिस ने पोस्टमार्टम के तीनों के शव उन्हें सुपुर्द कर दिए. पोस्टमार्टम गृह पर एसी देहात आदित्य कुमार, सीओ मांट विजय शंकर मिश्र मौजूद रहे.