-पेयजल पाइप लाइन में गड़बड़ी मिलने पर तत्काल लिया एक्शन

-जल निगम के तत्कालीन चीफ इंजीनियर पर होगा एफआईआर

varanasi.

समीक्षा बैठक के लिए शनिवार को वाराणसी पहुंचे प्रदेश के संसदीय कार्य, नगर विकास, शहरी समग्र विकास तथा नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन विभाग और जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना ने अफसरों की लापरवाही पर कड़ा रुख अपनाया. पेयजल पाइप लाइन बिछाने में गड़बड़ी पर उन्होंने जल निगम के तीन इंजीनियरों को तत्काल सस्पेंड कर दिया. सस्पेंड होने वाले अफसरों में जल निगम के एक्सईएन एके सिंह के अलावा एक अवर और एक सहायक अभियंता हैं. इसके अलावा सिस वरुणा इलाके में पहले बिछाई गई पाइप लाइन में गड़बड़ी पर रिटायर हो चुके जल निगम के तत्कालीन चीफ इंजीनियर आरके द्विवेदी पर भी मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिया.

अब आउटसोर्सिग से सीवर सफाई

कमिश्नरी सभागार में बैठक के दौरान मंत्री सुरेश खन्ना ने विधायक सौरभ श्रीवास्तव की पहल पर ठेकेदारी प्रथा को समाप्त करने का आदेश दिया. कहा कि 28 फरवरी से नगर निगम यह सीवर सफाई का काम आउटसोर्सिग के जरिए कराए. नगर निगम द्वारा गृहकर के रूप में इस वर्ष अब तक 23 करोड़ 16 लाख की वसूली को नाकाफी बताते हुए उन्होंने शत-प्रतिशत भवनों से गृहकर वसूली किये जाने पर जोर दिया. कहा कि नए भवनों के एसेसमेंट और पुरानों से वसूली के लिए 6 अप्रैल से 15 दिनों का विशेष अभियान भी चलाएं. इनके अलावा पार्किंग, वेंडिंग जोन और स्वच्छता अभियान पर भी चर्चा की.

धन वितरण में देरी पर हुए नाराज

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के 23 सौ उन लाभार्थियों को धन वितरण में देरी पर मंत्री ने नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा कि पहली किस्त के 50 हजार रुपये लाभार्थियों के खाते में जल्द डालकर उन्हें सेम डे ईमेल से सूचित किया जाए.

अनिल राजभर से खफा दिखे

होमगार्ड मंत्री अनिल राजभर और भासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के बीच खींचतान पर भी मंत्री खफा दिखे. उन्होंने स्पष्ट कहा कि अनिल राजभर को कुछ भी पता नहीं है. उन्हें कहिए कि किसी भी मामले में बोलने से पहले पूरी जानकारी कर लें.

मंदिर प्रबंधकों से मिले राज्यमंत्री

प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी शनिवार को एमएलसी लक्ष्मण आचार्य व विधायक सुरेन्द्र नारायण सिंह के साथ सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर के प्रबंधकों से मिले. उनके साथ मंदिर और आसपास के क्षेत्र को तीर्थ स्थल के रूप में विकसित किये जाने के संबंध में वार्ता की. संत रविदास की 641वीं जयंती पर सीर गोवर्धन आये यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस क्षेत्र को तीर्थ स्थल के रूप में विकसित करने का निर्देश दिया था. इसके लिये उन्होंने मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी, एमएलसी लक्ष्मण आचार्य व विधायक रोहनिया सुरेन्द्र नारायण सिंह को जिम्मेदारी सौंपी है.