झूंसी में नकली नोट बनाने वाले गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार

दो हजार, पांच सौ और सौ रुपए की फेंक करेंसी भी बरामद

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: झूंसी में कई माह से जाली करेंसी बनाने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वह स्कैनिंग के जरिए नोट बना कर बाजार में उतारते थे. पकड़े गए शातिर घर में कम्प्यूटर, स्कैनर, पि्रंटर लगाकर नकली नोट तैयार कर रहे थे. सटीक सूचना पुलिस ने छापामारी की तो वे तीनों तो पकड़े ही गए, दो हजार, पांच सौ और सौ रुपए के नकली नोट भी बरामद हुए.

उपकरण भी किए गए बरामद

एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि झूंसी इलाके में जाली करेंसी तैयार करने की सूचना पर एएसपी गणेश साहा को लगाया गया. गोपनीय जांच के बाद इंस्पेक्टर झूंसी सुरेंद्र नाथ, एसएसआई अशोक सिंह व एसआइ मनोज सिंह ने गंगा बिहार कॉलोनी झूंसी में छापामारी करके सार्थक शुक्ल पुत्र राजेश शुक्ल के घर से कंप्यूटर, प्रिंटर, स्कैनर बरामद किया. सार्थक के साथ रोहित मिश्र पुत्र कृपाशंकर मिश्र निवासी कहली थाना मऊआइमा तथा नागेश्वर दयाल भारती पुत्र दीनदयाल भारती निवासी हवेलिया उलटा किला झूंसी को भी गिरफ्तार कर लिया. सार्थक मूल रूप से मेजा का रहने वाला है. एएसपी के मुताबिक, तीनों के कब्जे से दो हजार, पांच सौ और सौ के 47950 रुपये के नकली नोट बरामद हुए हैं. नए नोट को स्कैन करने के बाद शातिर पतले कागज पर प्रिंट निकाल लेते थे. शातिर कागज ऐसा इस्तेमाल कर रहे थे जो नोट की तरह पतला है. यही वजह है कि आराम से जाली करेंसी खपाई जा रही थी. स्कैनिंग के लिए बदमाश दो हजार, पांच सौ और सौ के अलग-अलग नोट इस्तेमाल करते थे.