-परिवार के साथ लखनऊ से घर लौट रहे थे, कारोबारी बचा मां, चाची और ड्राइवर की मौत

kanpur@inext.co.in

KANPUR : शहर और आसपास के इलाकों से सड़क हादसों की खबर लगातार आ रही हैं. अभी घाटमपुर में सड़क हादसे में मरे दंपति और उनकी बेटी की चिता की आग ठंडी भी नहीं हुई कि सोमवार सुबह बिल्हौर में एक्सप्रेस-वे पर एक और दर्दनाक हादसा हो गया. हादसे में कार सवार इत्र कारोबारी सीट बेल्ट लगाने से बाल बाल बच गए, लेकिन उनकी मां, चाची और ड्राइवर की मौत हो गई.

अचानक झपकी आने से कार डीसीएम में घुसी

कन्नौज निवासी इत्र कारोबारी अनुराग कपूर रविवार को इनोवा कार से लखनऊ गए थे. उनके साथ मां प्रीति (68), चाची रीता (64) और ड्राइवर राज किशोर था. लखनऊ से लौटते समय ड्राइवर के थक जाने पर अनुराग कार चला रहे थे. वे तड़के अरौल टोल प्लाजा पर पहुंचे थे कि अनुराग को अचानक झपकी आने से कार अनियंत्रित होकर हाइवे किनारे खड़ी डीसीएम में घुस गई. इससे कार का अगला हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया .

एयरबैग खुलने से बाल-बाल बचे

पुलिस ने राहगीरों की मदद से किसी तरह कार सवारों को गाड़ी से निकालकर सीएचसी ले गई. वहां पर डॉक्टर ने चालक राजकिशोर, कारोबारी की मां प्रीति और चाची रीता को मृत घोषित कर दिया. वहीं, अनुराग एयरबैग खुलने से बाल-बाल बच गए. उनको मामूली चोट आई थी. अनुराग ने जब परिजनों को हादसे की जानकारी दी तो परिवार में कोहराम मच गया. मौके पर पुलिस ने बताया कि अगर अन्य लोग भी सीट बेल्ट लगाए होते तो एयरबैग खुलने से बच जाती जान.