-यूनिवर्सिटी गेट के सामने यूपी रोडवेज की बस ने तीन छात्रों को कुचला, एक की मौत

-गोरखपुर विश्वविद्यालय के छात्र नेताओं ने जमकर किया हंगामा, शाम में प्रशासन ने दिया मुआवजा

GORAKHPUR: डीडीयू यूनिवर्सिटी गोरखपुर के मेन गेट के सामने रोडवेज बस ने बाइक सवार तीन छात्रों को कुचल दिया. सुबह करीब सवा आठ बजे हुए एक्सीडेंट में एक छात्र की मौके पर मौत हो गई. दो घायल छात्रों को मेडिकल कॉलेज में एडमिट कराया गया. घटना से गुस्साए एनएनसी कैडेटस ने घटना स्थल पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया. एनसीसी कैडेटस के समर्थन में उतरे यूनिवर्सिटी के छात्रों और छात्रसंघ नेताओं ने जमकर बवाल किया.

तीन सौ मीटर की दूरी पर छह घंटे में पहुंचे डीएम

पिपराइच के मौलाखोर, पतरा का अनिल कुमार शर्मा एमपी इंटर कॉलेज में 12वीं का स्टूडेंट था. बगल के गांव के संगम यादव और विकास यादव को-आपरेटिव इंटर कॉलेज पिपराइच में पढ़ते हैं. रविवार सुबह एक बाइक से तीनों एनसीसी में भर्ती के लिए आयोजित काउंसिलिंग में एमपी इंटर कॉलेज के ग्राउंड में पहुंचे. वहां पानी भरने की वजह से सभी छात्रों को यूनिवर्सिटी कैंपस भेज दिया गया. करीब सवा आठ बजे बाइक सवार अनिल दोस्तों संग यूनिवर्सिटी गेट के सामने पहुंचे. सड़क पार करते समय लखनऊ की ओर से रेलवे बस स्टेशन जा रही कानपुर देहात डिपो की बस की चपेट में आ गए. मौके पर अनिल की मौत हो गई और दोनों साथी घायल हो गए. दुर्घटना के बाद छात्रों ने हंगामा किया और रोडवेज की बस को घेरकर तोड़फोड़ की. घायलों को आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहां हालत गंभीर बताकर डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया. डीएम को मौके पर बुलाने की जिद पर अड़े छात्रों ने आवागमन ठप रहा. घटना स्थल से तीन सौ कदम की दूरी पर स्थित आवास से निकलने में डीएम को छह घंटे लग गए. गुस्साए छात्र यूनिवर्सिटी चौराहे से लेकर छात्रसंघ चौराहे तक प्रदर्शन करते रहे. दोपहर दो बजे डीएम और एसएसपी के पहुंचने छात्रों ने प्रदर्शन समाप्त किया. रेलवे स्टेशन रोड के प्रमुख चौराहे पर जाम लगाए जाने से अफरा-तफरी का माहौल रहा. एसएसपी ने बताया कि दुर्घटना के लिए जिम्मेदार ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है.

यूनिवर्सिटी गेट पर नहीं सुनी बात तो पहुंचे सीएस चौराहा

यूनिवर्सिटी गेट के सामने जमा छात्रों ने वाहनों की आवाजाही रोक दी. बवाल बढ़ने की आशंका में पुलिस और प्रशासन के अधिकारी फोर्स के साथ पहुंचे. दुर्घटना से गुस्साए छात्र पीडि़त परिवार के लोगों को मुआवजा, ड्राइवर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई, यूनिवर्सिटी गेट के सामने ब्रेकर बनाए जाने सहित कई मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए. छात्रों ने एमपी इंटर कॉलेज के जिम्मेदारों को घटना स्थल पर बुलाने की जिद की. एडीएम सिटी, सिटी मजिस्ट्रेट, एसपी सिटी, एसपी साउथ, एसपी नार्थ सहित अन्य अधिकारियों ने छात्रों को समझा बुझाकर शांत कराने का प्रयास किया. लेकिन इस बात पर अड़े रहे कि हर हाल में डीएम को बुलाया जाए. आखिर वह क्यों नहीं आना चाहते हैं. डीएम के आने में विलंब होने से छात्रों का गुस्सा बढ़ता चला गया. पुलिस को लगा कि छात्र गेट के सामने प्रदर्शन करते रहेंगे. मांग पूरी न होने पर प्रदर्शकारी छात्रों ने पैतरा बदल दिया. डीएम आवास के घेराव की योजना बना दी. इसकी जानकारी होने पर यूनिवर्सिटी गेट पर इकट्ठा पुलिस बल डीएम के आवास पर पहुंच गई. डीएम आवास के पहले चौराहे पर नाकाबंदी कर दी गई. फोर्स के खिसकते ही सभी छात्र यूनिवर्सिटी गेट से दौड़ते हुए यूनिवर्सिटी चौराहे पर आ गए. चारों ओर से चौराहे को घेरकर प्रदर्शन करने लगे.

डीएम-एसएसपी ने दिया आश्वासन

यूनिवर्सिटी चौराहे पर पहुंचकर छात्रों ने फिर से प्रदर्शन शुरू कर दिया. किसी ने छात्रों को बताया कि डीएम को सूचना नहीं दी जा रह है. इससे गुस्सा होकर प्रदर्शन कर रहे युवकों ने पुलिस-प्रशासन और डीएम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. चारों ओर का रास्ता बंद कर हर हाल में डीएम को बुलाने की जिद पर अड़े रहे. पुलिस ने टाइट होने का प्रयास किया तो यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने हॉस्टल से साथी छात्रों को बुलाकर प्रदर्शन तेज करने की धमकी दी. थक हारकर मौके पर मौजूद अधिकारियों ने डीएम से संपर्क किया. दोपहर करीब एक बजकर 50 मिनट पर डीएम के विज्येंद्र पांडियान और एसएसपी शलभ माथुर पहुंचे. प्रदर्शन कर रहे छात्रों की सभी मांग पूरी करने का आश्वासन देकर जाम खत्म कराया.

घटनाक्रम

सुबह 08.15 बजे: यूनिवर्सिटी गेट के सामने रोडवेज की बस से एक्सीडेंट

सुबह 08.40 बजे. घायल छात्रों को जिला अस्पताल से मेडिकल कालेज

सुबह 09.00 बजे: छात्र के मौत होने की सूचना से आक्रोशित छात्रों का प्रदर्शन शुरू हुआ

सुबह 10.00 बजे: घटनास्थल पर पुलिस-प्रशासन के सभी सीनियर आफीसर्स पहुंचे.

सुबह 11.30 बजे: डीएम को घटनास्थल पर बुलाने की मांग पर छात्रनेताओं का हंगामा.

दोपहर 12.36 बजे: डीएम आवास के पास आरटीओ चौराहे पर फोर्स ने घेराबंदी की.

दोपहर 12.44 बजे : यूनिवर्सिटी चौराहे को घेरकर छात्रों ने चक्का जाम किया, प्रदर्शन

दोपहर 01.30 बजे: डीएम और एसएसपी प्रदर्शन कर रहे छात्रों के बीच पहुंचे.

दोपहर 02.00 बजे: मांग पूरी होने के आश्वासन पर छात्रों ने प्रदर्शन खत्म किया.

वर्जन

एक्सीडेंट में छात्र की मौत के लिए जिम्मेदार ड्राइवर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. कैंट पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है. प्रदर्शन कर रहे छात्रों को समझाकर शांत कराया गया.

शलभ माथुर, एसएसपी

दुर्घटना में छात्र की मौत पर मुझे बेहद अफसोस है. पीडि़त परिवार को पांच लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा. घायल छात्रों को दो-दो लाख रुपए की मदद की जाएगी. छात्रों की जायज मांगे पूरी की जाएगी. स्पीड ब्रेकर बनवाए जाएंगे.

के विज्येंद्र पांडियान, डीएम