आगरा. उमस भरी भीषण गर्मी के बीच शनिवार को लोग दिन भर बेहाल रहे. वहीं शाम को अचानक से धूल भरी आंधी और हल्की बूंदाबांदी हुई. ठंडी हवाएं चलने से तापमान में कुछ कमी आई तो लोगों ने राहत महसूस की. शनिवार को सुबह से ही मौसम का मिजाज तीखा रहा. धूप में भले ही अपेक्षाकृत उतनी तेजी नहीं थी, लेकिन आसमान में छाए हल्के बादलों के चलते उमस बहुत ज्यादा थी. जैसे-जैसे दिन बढ़ा और दोपहर हुई तो गर्मी और प्रचंड हो गई. उमस और गर्मी के चलते लोगों का पसीना नहीं रुका.

कूलर, पंखे से नहीं मिली राहत

भीष्ण गर्मी में कूलर और पंखे भी फेल हो गए और उनसे राहत नहीं मिल पा रही थी. उम्मीद थी कि शाम होने पर गर्मी में कमी आएगी, लेकिन लोगों के ये कयास भी गलत साबित हुए. शाम को भी मौसम आग उगलता महसूस होता रहा. बेहाल गर्मी के बीच लोग बेचैन नजर आए. शाम करीब साढ़े बजे अचानक आंधी और बूंदाबांदी कुछ राहत लेकर आई. पहले धूल भरी हवाएं चलीं. इसके बाद बूंदाबांदी हो गई. जिससे हवाएं ठंडी हो गईं. लोगों ने छत और खुले स्थलों में आकर इन ठंडी हवाओं का जमकर लुत्फ लिया. वहीं दिन का अधिकतम तापमान 40.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

विद्युत आपूर्ति रही ठप

शनिवार को गर्मी ही नहीं, बिजली ने भी खूब परेशान किया. अलग-अलग क्षेत्रों में टुकड़ों में बिजली की कटौती की जाती रही. दिन भर में कई बार आपूर्ति बाधित हुई, जिससे लोगों को घंटों तक बिजली नहीं मिल सकी. वहीं आंधी आने के साथ ही बिजली पूरी तरह बंद हो गई. पूरा शहर अंधेरे में डूबा नजर आया.