kanpur@inext.co.in
KANPUR : अगस्त में कानपुर-लखनऊ एक्सप्रेसवे का निर्माण शुरू हो जाएगा। एनएचएआई इसका निर्माण शुरू करेगा। जून के आखिर तक भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। एक्सप्रेस-वे अमौसी के थोड़ा आगे से ट्रांसगंगा सिटी तक जाएगा। इस पर कानपुर का सफर लखनऊ से 45 से 50 मिनट में पूरा हो जाएगा। कानपुर एलीवेटेड हाइवे के रास्ते में 63 ग्राम पंचायतों की जमीन है। जिसे अधिग्रहित किया जाना है। सर्किल रेट के आधार पर ही सभी को मुआवजा ि1दया जाएगा।

गजट हुआ जारी
कितनी जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। किन-किन गांव के किसानों से जमीन ली जाएगी। इसका परिवहन मंत्रालय द्वारा गजट भी जारी कर दिया गया है। लखनऊ में सरोजनी नगर तहसील में पहला गांव पिपरसंड होगा। इस तहसील के 18 गांव अधिग्रहण के दायरे में हैं। हसनगंज तहसील के 4 गांव, उन्नाव की पुरवा तहसील के 18 गांव और उन्नाव तहसील के 32 गांवों का में जमीनों का अधिग्रहण होगा। एक्सप्रेस-वे के 11वें किलोमीटर से ग्रामीण क्षेत्र शुरू हो जाएगा।