शिव की उपासना के लिए मंदिरों में हुई विशेष तैयारी

PATNA: शिव की उपासना का महापर्व महाशिवरात्रि पर आज शिवालयों में भगवान शंकर की उपासना की जाएगी. इसे लेकर विशेष तैयारी की गई है. पटना के कई मंदिरों को तो विशेष रूप से सजाया गया है. इसमें खाजेपुरा का शिव मंदिर भी शामिल है. मंदिरों को फूलों से सजाया जा रहा है और सीएम नीतीश कुमार सहित अन्य कई मंत्रियों की उपस्थिति में महाशिवरात्रि मनाई जाएगी. ज्योतिष विद्वानों का भी मत है कि इस वर्ष दो दिनों में शिवरात्रि को लेकर असमंजस की स्थिति रह है लेकिन 13 को ही व्रत एवं उपासना का महापर्व मनाया जाएगा. 14 फरवरी को भी संयोग बन रहा है लेकिन इस दिन व्रत नहीं बल्कि उपासना की जाएगी.

शिव की उपासना का प्रमुख दिन

ज्योतिष विद्वानों का कहना है कि भगवान शिव की उपासना के लिए महाशिवरात्रि का पर्व विशेष स्थान रखता है. इस तिथि पर सच्ची श्रद्धा से जलािषेक करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं. महाशिवरात्रि (13 फरवरी, मंगलवार) पर शिव भक्त भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए अनेक उपाय क तैयारी कर रहे हैं. भगवान शिव की उपासना के साथ हर समस्या के समाधान के लिए शिवपुराण में एक अलग उपाय भी बताया गया है. बुखार होने पर भगवान शिव को जल चढ़ाने से शीघ्र लाभ मिलता है. सुख व संतान की वृद्धि के लिए भी जल द्वारा शिव की पूजा उत्तम बताई गई है.

गंगा जल चढ़ाने से मोक्ष की होती है प्राप्ति

तेज दिमाग के लिए शक्कर मिला दूध भगवान शिव को चढ़ाया जाता है. गन्ने का रस चढ़ाया जाए तो सभी आनंदों की प्राप्ति होती है. शिव को गंगा जल चढ़ाने से भोग व मोक्ष दोनों की प्राप्ति होती है. शहद से भगवान शिव का अभिषेक करने से टीबी रोग में आराम मिलता है. भगवान शिव का अभिषेक गाय के शुद्ध घी से करे तो शारीरिक कमजोरी दूर होती है.