1- माइक्रोसॉफ्ट के बॉस बिल गेट्स ने विंडोज 1.0 जैसा नायाब तोहफा 1983 में आज ही के दिन दिया था।
आज ही के दिन खुली थी कंप्‍यूटर की window
2- भले 1983 में इसका ऐलान हुआ लेकिन 1985 में 20 नवंबर से बजार में इसकी ब्रिकी शुरु हुई है।
आज ही के दिन खुली थी कंप्‍यूटर की window
3- एक विशेष इंट्रोडक्‍टरी ऑफर में विंडोज 1.0 विंडोज राइट और विंडोज पेंट के साथ आया और इसकी कीमत 99 डॉलर थी।
आज ही के दिन खुली थी कंप्‍यूटर की window
4- माइक्रोसॉफ़्ट विंडोज माइक्रोसॉफ्ट द्वारा निर्मित सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम और ग्राफिकल यूजर इण्टरफेस की एक श्रृंखला है।
https://www.jagranimages.com/inext/windows5a101117.jpg
5- इसे एमएस डॉस ऑपरेटिंग सिस्‍टम का फ्रंट एंड कहा जाता है। माउस इनपुट पर कुछ ज्‍यादा निर्भर होने से इसकी आलोचना की गई। क्‍योंकि लोग उस वक्‍स माउस का ज्‍यादा प्रयोग नहीं करते थे।

6- सिर्फ टाइल्‍ड विंडोज को सपोर्ट कर सकता था लेकिन इसमें एमएस डॉस एग्‍जीक्‍यूटिव फाइल मैनेजर, कैलेंडर कार्डफाइल, नोटपैड, टर्मिनल घड़ी और कैलकुलेटर जैसे डेस्‍कटॉप फीचर्स थे।
आज ही के दिन खुली थी कंप्‍यूटर की window
7- विंडोज 10 माइक्रोसॉफ्ट का विंडोज के नए संस्करण पर आधारित एक संचालन प्रणाली है। माइक्रोसॉफ्ट इससे पहले विंडोज के नो संस्‍करण जारी कर चुका है।
आज ही के दिन खुली थी कंप्‍यूटर की window

International News inextlive from World News Desk