कोलंबो (आईएएनएस)। श्रीलंका में भारी बारिश और हवा से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। श्रीलंका में आपदा प्रबंधन केंद्र (डीएमसी) ने गुरुवार को कहा कि इस आपदा से अब तक 12 लोगों की मौत हो गई है और देश के कई अन्य हिस्सों में करीब 69,000 लोग प्रभावित हुए हैं। डीएमसी प्रवक्ता प्रदीप कोडिपिली ने कहा कि बारिश अब कम हो गई है लेकिन अभी भी लोगों से भूस्खलन के खतरे के कारण सुरक्षित आश्रय से अपने घर नहीं लौटने की अपील की गई है। उन्होंने कहा कि निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को भी सतर्क रहने की सलाह दी गई क्योंकि नदियों का स्तर भी बढ़ गया है।

प्रभावित लोगों को प्राथमिक चिकित्सा

कोडिपिली ने कहा कि कलुतुरा जिले में भूस्खलन का खतरा बना हुआ है और प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित आश्रय में शिफ्ट कर दिया गया है। बाढ़ वाले इलाकों में सुरक्षा बलों और पुलिस के सैकड़ों अधिकारियों को तैनात किया गया है और वे प्रभावित लोगों को प्राथमिक चिकित्सा और राशन वितरित कर रहे हैं। राष्ट्रपति मैत्रिपला सिरीसेना ने उन प्रभावित लोगों को भी राशन, पानी और स्वास्थ्य सुविधाएं वितरित करने का आदेश दिया है जो बाढ़ के चलते सुरक्षित आश्रय में रह रहे हैं। श्रीलंका के मौसम विभाग का कहना है कि देश में अभी और अधिक बारिश हो सकती है।

चीन की मदद से श्रीलंका बना रहा नया महानगर जो हांगकांग, दुबई को देगा टक्‍कर

श्रीलंका के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद आईसीसी टी-20 रैंकिंग में टीम इंडिया दूसरे स्थान पर

International News inextlive from World News Desk