टमाटर और आलू के दाम 50 के पार, बरसात के दिनों में बढ़ सकते हैं दाम

मंडी विशेषज्ञों के मुताबिक अगस्त माह तक 100 रुपये प्रति किलो हो सकते हैं टमाटर के दाम

Meerut. बरसात की शुरुआत के साथ ही टमाटर के दाम आसमान छूने लगे हैं. ऐसे में पहले ही पेट्रोल व डीजल के लगातार बढ़ते दाम की मार झेल रहे लोगों को अब टमाटर और आलू जैसी मूलभूत सब्जियों के महंगे दामों की मार भी झेलनी पड़ रही हैं. फुटकर बाजार में इस समय टमाटर 50 से 60 रुपए प्रति किलो बिक रहा है और जो हाल बाजार है उसके अनुसार अगस्त माह तक टमाटर 100 रुपए पार हो सकता है.

आलू 40 तो टमाटर 60 रुपए पार

डेढ़ माह पहले तक करीब 10 से 15 रुपए प्रति किलो बिक रहा आलू आज करीब 40 रुपए प्रति किलो बिक रहा है वहीं मात्र 10 से 12 रुपए प्रति किलो तक बिकने वाले टमाटर के दाम में गत सप्ताह एकदम से आई तेजी से लोग हैरान हो गए हैं. टमाटर 10 रुपये से सीधे 40 और अब 60 रुपए प्रति किलो फुटकर में बिक रहे है. मंडी विशेषज्ञों की मानें तो अभी यह दाम 70 से 100 रुपए प्रति किलो तक पहुंचने की उम्मीद है.

बरसात में प्रभावित हो रही फसल

मेरठ की नवीन सब्जी मंडी में आने वाले टमाटर अधिकतर दिल्ली की आजादपुर सब्जी मंडी, हिमाचल, ग्वालियर, नासिक और हरियाणा से आते हैं. ऐसे में कहा जा रहा है कि तेज गर्मी और बरसात के कारण कई राज्यों में फसलें खराब हो गई जिस कारण से सप्लाई पर फर्क आया है. सप्लाई कम होने के कारण मंडी में टमाटर की आवक भी कम हो रही है और कमी के कारण दाम में इजाफा हो रहा है.

डीजल के दाम भी बना कारण

डीजल का दाम बढ़ने के कारण दूसरे राज्यों से आने वाली सब्जियों और ढुलाई भाडे़ में इजाफा हुआ है इसके कारण भी सब्जियों का दाम बढ़ रहा है.

सालभर बाद दोबारा बढे़ दाम

ठीक एक साल पहले जुलाई माह में टमाटर 100 से 120 रुपए किलो बाजार में बिका था एक बार फिर वही स्थिति दोबारा बनने लगी हैं. मंडी विशेषज्ञ जहां पिछली बार नोटबंदी का रोना रो रहे थे वहीं इस बार डीजल व माल ढुलाई में इजाफा इस बढोत्तरी का कारण बताया जा रहा है. वजह चाहे जो भी हो लेकिन एक बार फिर टमाटर लोगों के चेहरे लाल करने वाला है.

सब्जियों के दाम-

सब्जी फुटकर थोक

टमाटर 60 45 से 50

आलू 35 से 40 20 से 25

अरबी 60 40 से 45

प्याज 30 20 से 25

बीन्स 60 45 से 50

लौकी 25 15 से 20

दिल्ली आजादपुर सब्जी मंडी में अधिकतर हरियाणा व हिमाचल से टमाटर व अन्य सब्जियों की सप्लाई होती हैं लेकिन वहां बारिश के कारण फसल प्रभावित हुई है. इसका असर मेरठ में भी पड़ रहा है.

अशोक प्रधान, सब्जी मंडी अध्यक्ष

मंडी से टमाटर के दाम रोजाना बढ़ रहे हैं बरसात में हर साल टमाटर व अन्य सब्जियों के दाम बढ़ जाते हैं. इसलिए फुटकर में भी सब्जी मंहगी है.

कौशलेंद्र, फुटकर विक्रेता

मंडी में भी टमाटर के दाम में एक सप्ताह में 20 से 30 रुपए का इजाफा हुआ है. लगता है इस साल भी मंडी समिति को अलग से काउंटर लगाकर टमाटर बेचने पड़ेंगे.

अरुण

सब्जियों के दाम तो हर दूसरे माह बढ़ जाते हैं. पूरे साल यही हाल रहता है कभी बारिश तो कभी डीजल किसी ना किसी बहाने से दाम बढ़ा ही दिया जाता है.

निर्मला