जम्मू (आईएएनएस)। उत्तरी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने सोमवार को एक आरटीआई के जवाब में सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि देश में पहली सर्जिकल स्ट्राइक जम्मू-कश्मीर में उरी आतंकी हमले के बाद सितंबर, 2016 में भारतीय सेना द्वारा की गई थी। हालांकि वह उस सर्जिकल स्ट्राइक के डिटेल नहीं देंगे लेकिन वह जो कह रहे हैं वह तथ्य है।

पाकिस्तान आज भी अपनी भारत विरोधी नीति जारी रखे हुए

लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा कि पाकिस्तान आज भी अपनी भारत विरोधी नीति जारी रखे हुए है। मादक पदार्थों की तस्करी और घुसपैठ शामिल है। पाकिस्तान में आतंकी कैंप बरकरार हैं और हम उन पर नजर रख रहे हैं। इतना ही नहीं पाकिस्तान द्वारा आतंकवादियों को भारत में भेजने के लिए संघर्ष विराम का उल्लंघन किया जाता है, लेकिन सेना की तैनाती उसके प्रयासों को नाकाम कर देती है। आगे भी पाकिस्तान की कोशिशों को नाकामायब करने के लिए नई पीढ़ी के हथियार तैनात किए जा रहे हैं।
लाकोट में मारे गए 130 से 170 जैश आतंकी, इतालवी पत्रकार का दावा
86 आतंकियों को मार गिराया और 20 को गिरफ्तार कर लिया

इस साल की शुरुआत से अब तक हमने 86 आतंकवादियों को मार गिराया और 20 को गिरफ्तार कर लिया। इनमें से कई युवाओं को परिवारों की मदद के माध्यम से एक सामान्य जीवन जीने की स्थिति में लाया जा रहा है। वहीं इस दाैरान उन्होंने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की सर्जिकल स्ट्राइक की भी प्रशंसा की। लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने इसे भारत के लिए एक बड़ी उपलब्धि बताई है।

National News inextlive from India News Desk