-पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल, 15 लाख के जेवरात बरामद

BAREILLY: टॉप कैरेट ज्वैलर्स लूटकांड के मास्टर माइंड सतनाम ने लूटी ज्वैलरी ससुराल में घर के अंदर जमीन में गाड़ दी थी. उसकी माने तो उसने अपने हिस्से की ज्वैलरी बेची नहीं थी लेकिन उसकी थ्योरी पर भरोसा नहीं हो रहा है. फिलहाल पुलिस ने उसे मंडे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. पुलिस ने उसके पास से 15 लाख की ज्वैलरी की बरामदगी दिखाई है. अभी भी पुलिस राजेश उर्फ झंडू को गिरफ्तार नहीं कर सकी है. उसके ही घर में लूट की ज्वैलरी का बंटवारा हुआ था और उसके पास शंकर का भी हिस्सा है. अब तक के खुलासे से साफ हो गया है कि ज्वैलरी शोरूम से 1 करोड़ से अधिक की लूट हुई थी.

रोजा में एटीएम काटा था सतनाम ने

एसपी सिटी अभिनंदन सिंह और एसपी क्राइम रमेश कुमार भारतीय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि 4 जून को ज्वैलरी शॉप में हुइ लूट में सतनाम सिंह पुत्र सर्वजीत सिंह निवासी शक्ति फार्म खटीमा, उधमसिंह नगर उत्तराखंड फरार चल रहा था. इस पर एक लाख का इनाम घोषित था. सतनाम पर शाहजहांपुर के रोजा में एटीएम काटने का केस दर्ज है. उसके ऊपर पीलीभीत, शाहजहांपुर, दिल्ली और पंजाब में भी मुकदमें दर्ज हैं. इस मामले में निर्मल, शंकर, मनोज वाल्मीकि और एक अन्य जेल में बंद हैं.

सेटेलाइट से दिखाई गिरफ्तारी

पुलिस ने सतनाम की गिरफ्तारी सेटेलाइट बस अड्डे से दिखाइ है. पुलिस के मुताबिक रविवार रात पौने 3 बजे सतनाम लूट का माल बेचने दिल्ली जा रहा था. मुखबिर की सूचना पर उसे सीओ सिटी वन ने क्राइम ब्रांच की मौजूदगी में दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया और उसके पास से ज्वैलरी भी बरामद कर ली. जबकि पुलिस उसे पंजाब से पकड़कर लायी थी. पुलिस सर्विलांस की मदद से उसकी पत्‍‌नी को ट्रेस कर रही थी. पत्‍‌नी उससे मिलने पंजाब गई थी. पंजाब में पकड़ने के बाद उसे बरेली लाया गया. फिर उसे पश्चिम बंगाल बरामदगी के लिए लेकर गई थी. सीओ सिटी वन कुलदीप कुमार ही टीम को लीड कर रहे थे और पंजाब और पश्चिम बंगाल गए थे.

व्यास में रहकर बदला हुलिया

पुलिस सोर्स की मानें तो लूट को अंजाम देने के बाद सतनाम भी तिलहर में राजेश के घर गया था. यहां पर माल बंटवारा होने के बाद वह सीधे कोलकाता के अशोक नगर में गया था. यहां पर उसके ससुर का घर है. उसने ससुर के घर के अंदर सामान जमीन में गाड़ दिया था. ससुर के घर के सामने ही थाना है. यहां कुछ दिन रहने के बाद वह पंजाब चला गया था. यहां पर ब्यास एरिया में भाई के घर रहा था. उसने अपना पूरा हुलिया बदल लिया था. उसने बाल और दाढ़ी बढ़ाकर पगड़ी पहन ली थी.

और बढ़ गइ ईनाम की राशि

जब एसटीएफ ने मामले का खुलासा किया था तो निर्मल और शंकर को गिरफ्तार कर जेल भेजा था, लेकिन कोई भी रिकवरी नहीं हुई थी. उसने ही पूछताछ में सतनाम के नाम का खुलासा किया था. जिसके बाद उस पर 25 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया गया था. कुछ दिनों पहले जब एसटीएफ और क्राइम ब्रांच ने उसे ट्रेस कर लिया तो उसका ईनाम बढ़ाकर 50 हजार किया और फिर गिरफ्तारी होने तक ईनाम 1 लाख रुपए का कर दिया गया.