1- फोन स्‍क्रीन पर पॉपअप विज्ञापनों की बाढ़

अगर आपके फोन में पॉपअप advertisement की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ गई है, यानी कि हर दूसरे मिनट पर आने वाले पॉपअप विज्ञापनों की वजह से आप फेसबुक या व्‍हाट्ऐप ही नहीं, अपना फोन भी ठीक से यूज नहीं कर पा रहे हैं। इन सभी पॉपअप ऐड में नई-नई ऐप्स को इंस्टॉल करने के पुश नोटीफिकेशन दिखाई दे रहे हैं तो समझ लीजिए कि आपके फोन में कोई-न-कोई वायरस अटैक हो चुका है। ऐसे में अगर आप अपने फोन को फैक्ट्री रिसेट कर दें तो इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है। क्‍योंकि ज्‍यादातर मामलों में कोई वायरस इंफेक्‍टेड ऐप इंस्‍टॉल कर लेने के बाद आपके फोन की हालत ऐसी ही हो जाती है। फोन को रिसेट कर देने से वायरस की जड़ ही खत्‍म हो जाती है।

अगर आपका स्मार्टफोन कर रहा है ऐसी हरकतें तो जान लीजिए उस पर वायरस का साया है!

अपने स्‍मार्टफोन में न करें ये 3 काम, वर्ना होगा पड़ेगा परेशान!

2- अनजानी ऐप्स इंस्टॉल हो जाना

हर व्यक्ति अपने फोन में अपनी जरुरत के हिसाब से ऐप्स इंस्टॉल करता है लेकिन कभी-कभी बिना यूजर की परमिशन और उसकी जानकारी के कुछ ऐप्स इंस्टॉल हो जाती हैं। अगर आपके फोन में भी ऐसा ही हो रहा है तो इस बात की पूरी पॉसिबिलिटी है कि आपके फोन का कंट्रोल किसी हैकर के हाथ में पहुंच चुका हो और उन ऐप्स के द्वारा आपके फोन से डाटा थेफ़्ट आसानी से किया जा सकता है। ऐसे में जरूरी ऐप छोड़कर सभी अनजानी ऐप्स को अपने फोन से तुरंत अनइंस्टॉल कर दें।

अगर आपका स्मार्टफोन कर रहा है ऐसी हरकतें तो जान लीजिए उस पर वायरस का साया है!

आपके स्‍मार्टफोन की मेमोरी हो जाएगी 1 TB, बस करना होगा ये काम

3- पैसे नहीं खरीदारी की मांग

कुछ दिन पहले आपने एक ऐसे वायरस के बारे में सुना होगा जिसका नाम था रैनसमवेयर। वो किसी भी कंप्यूटर पर अपना कब्जा जमा कर उनके यूजर से पैसे वसूल करता था और उसके बदले उनके कंप्यूटर से बाहर निकल जाता था। आजकल ऐसे ही मिलते जुलते वायरस Android फोन पर भी अटैक कर रहे हैं। कई बार कुछ हैकर्स तमाम Android फोन को अपने चोरी-छिपे चलने वाले सॉफ्टवेयर्स द्वारा कंट्रोल कर लेते हैं और आपकी तमाम जरूरी ऐप्स पर बार-बार पॉपअप दिखाते रहते हैं। इस पॉपअन्‍स में पैसों की डिमांड नहीं बल्कि कई तरह की ऑनलाइन खरीदारी करने को फोर्स किया जाता है। अगर आप ऐसा कर लें तो आपका फोन ठीक काम करने लगेगा वर्ना आप फोन पर अपने जरूरी काम भी नहीं कर पाएंगे। ऐसी कंडीशन में अपने फोन को फैक्ट्री रिसेट करना ही समझदारी है लेकिन ऐसा करने में फोन की मेमोरी में सेव आपका तमाम पर्सनल डेटा लैप्स हो सकता है। हां इतना जरूर है कि फोन में लगे माइक्रो एसडी कार्ड को निकाल कर आप उसका डेटा आसानी से बचा सकते हैं।

अगर आप भी ये मोबाइल गेम खेलते हैं तो फौरन बंद कर दीजिए कहीं फोन आपका खेल न बिगाड़ दे!

4- फोन का अजीब-अजीब हरकतें करना

कहने का मतलब यह है जब कभी आपका फोन इस तरह से काम करने लगे कि आपके मुंह से निकले 'यह तो पागल हो गया है', तो समझ जाइए कि आपके फोन में वायरस का अटैक हो चुका है। यानि कि अब आपका फोन आपसे बिना पूछे और बिना परमिशन के तमाम एप्लीकेशन को ऑन कर। जब चाहेगा फोन को स्विच ऑफ कर देगा। ऐसी हालत में अपने फोन में कोई Paid एंटीवायरस डालना या फोन को फैक्ट्री रिसेट करना एक बेहतर सॉल्‍यूशन हो सकता है।

अगर आपका स्मार्टफोन कर रहा है ऐसी हरकतें तो जान लीजिए उस पर वायरस का साया है!

5- अपने आप ऐप्स या डाटा डाउनलोड हो जाना

जब कभी आपके फोन में कोई ऐप या वीडियो अपने आप ही डाउनलोड होने लगे और बार-बार बंद करने के बाद भी उसकी डाउनलोडिंग फिर शुरू हो जाए। यह आपके फोन में वायरस अटैक या हैकिंग का लक्षण दिखाता है। ऐसी कंडीशन में आपका फोन नार्मल से ज्यादा गर्म (Heat) भी कर सकता है। अपने फोन को फैक्ट्री रिसेट करके आप इस परेशानी से काफी हद तक निजात पा सकते हैं। बाद में अपनी मर्जी के अनुसार जरूरी ऐप्स फिर से इंस्टॉल कर लें।

Gmail, फेसबुक के पासवर्ड वेब ब्राउजर पर सेव करने की आदत है तो बदल डालिए, वर्ना ये कंपनियां सब कुछ चुरा लेंगी!

Technology News inextlive from Technology News Desk