कानपुर। तकनीक ऐसा क्षेत्र है, जहां हर वक्त नए-नए इनोवेशन देखने को मिलते हैं। इस साल कैमरा तकनीक के साथ स्मार्टफोन की स्क्रीन में भी काफी बदलाव देखा गया। अगर बात नए साल की करें, तो इसमें भी आपको एक से बढ़कर एक नए फोन के साथ नई तकनीक और इंटरनेट के क्षेत्र में भी काफी बदलाव देखने को मिलेंगे।

होलोग्राम
अब तक आपने होलोग्राम का उपयोग किसी प्रोडक्ट के पैकेट पर देखा होगा। परंतु फास्ट इंटरनेट आने के साथ ही इस तकनीक का उपयोग अब आप इवेंट, फिल्म या प्रजेंटेशन में भी देखेंगे। इसके माध्यम से वर्चुअल पिक्चर का उपयोग कर रियल चीजों को पेश किया जाएगा, जैसे- यदि कोई इवेंट यूएस में हो रहा है, तो होलोग्राम के उपयोग से दिल्ली में बैठे लोग भी समान अनुभव के साथ इवेंट को देख पाएंगे। किसी हाल में होलोग्राम के माध्यम से रियल प्रजेंटेशन दिया जा सकेगा।

वीओवाई-फाई
रिलायंस जियो ने भारतीय मोबाइल यूजर्स को वोल्‍टी सर्विस से रूबरू कराया था। कॉलिंग के लिए यह हाई-डेफिनेशन नेटवर्क न सिर्फ फास्ट है, बल्कि काफी क्लियर भी है। लेकिन अब एक बार फिर से तैयार हो जाइए कॉलिंग के नई तकनीक का उपयोग करने के लिए। वर्ष 2019 में आपको वीओवाई-फाई देखने को मिल सकती है। इसकी शुरुआत भी रिलायंस जियो द्वारा हो सकती है। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है आप वाई-फाई नेटवर्क पर कॉलिंग कर पाएंगे। हालांकि वाई-फाई पर अब भी कॉलिंग होती है, लेकिन वह हाई-डेफिनेशन नहीं है। नई तकनीक में आप क्रिस्टल क्लियर साउंड के साथ कॉलिंग कर पाएंगे।

5जी रोबोट
उम्मीद है कि 2019 में 5जी नेटवर्क दस्तक दे देगी। सुपरफास्ट नेटवर्क के आने के बाद आपको कई नई चीजें देखने को मिल सकती हैं, जिनमें 5जी रोबोट भी शामिल है। कुछ माह पहले ही हुवावे ने इस रोबोट का प्रदर्शन किया था। यह रोबोट आपके लिए असिस्टेंट के रूप में कार्य कर सकता है।

साल 2019 में ये 10 तकनीकें आ रही हैं आपको करने हैरान

हेलीकॉप्टर एयर टैक्सी
उड़ने वाली बाइक के बारे में आपने सुना ही होगा। नए साल में इससे एक कदम आगे उड़ने वाली टैक्सी भी देखने को मिल सकती है। हेलीकॉप्टर बनाने वाली कंपनी 'बेल' उड़ने वाली टैक्सी का प्रोटोटाइप तैयार कर चुकी है और उम्मीद है कि 2019 में इसे वह लॉन्च भी करे। इस एयर टैक्सी में 4 लोगों के लिए बैठने की जगह है। आपको यह जानकार हैरानी भी होगी कि कैब सेवा देने वाली कंपनी ऊबर अभी से ही हेलीकॉप्टर एयर टैक्सी के साथ पार्टनरशिप भी करने को तैयार है।

साल 2019 में ये 10 तकनीकें आ रही हैं आपको करने हैरान

डुअल लैंग्वेज इयरबड
क्षेत्रीय भाषा को लेकर सबसे ज्यादा इनोवेशन गूगल कर रहा है और इस दौरान कंपनी ने कई ट्रांसलेशन टूल पेश किए हैं। वहीं, अब कंपनी एक ऐसी तकनीक ला रही है, जिसके माध्यम से रियल टाइम ट्रांसलेशन कर सकते हैं। गूगल ने कुछ माह पहले इसका प्रोटोटाइप पेश किया था। यह इयरबड 40 भाषाओं को ट्रांसलेट करने में सक्षम है। इसमें डुअल स्पीकर है, जो एक ओर से सुनने और दूसरी ओर से ट्रांसलेट कर आपको समझाने में सक्षम है।

ऑल बेजल लेस स्क्रीन
2018 में नॉच स्क्रीन वाले फोन काफी चर्चा में रहे, लेकिन 2019 में आपको नया डिस्प्ले टेक्नोलॉजी ऑल बेजल लेस देखने को मिलेगा यानी फोन के फ्रंट पैनल में आपको कुछ भी नहीं दिखाई देगा। टच बटन तो अब आते ही नहीं हैं, वहीं कैमरा भी स्क्रीन के नीचे होगा, जो दिखाई नहीं देगा। यह सिर्फ फोटोग्राफी के दौरान एक्टिव होगा।

स्मार्ट स्पेस
पहले के मुकाबले इंटरनेट काफी तेज हो गया है और इंटरनेट आधारित डिवाइस का मार्केट भी तेजी से बढ़ रहा है। पिछले कुछ सालों में बड़े देशों में स्मार्ट होम का कॉन्सेप्ट काफी लोकप्रिय हुआ है। इसके तहत एक नेटवर्क से कई डिवाइस कनेक्टेड होते हैं और एक-दूसरे से कम्यूनिकेट करते हैं, जैसे- मोबाइल से ऑडियो डिवाइस और ऑडियो डिवाइस से टीवी, फ्रिज, बल्ब, गीजर, एसी और आरओ तक को कंट्रोल किया जा सकता है। नए साल में स्मार्ट होम के साथ ही स्मार्ट स्पेस का कॉन्सेप्ट भी दिखने को मिलेगा।

वायरलेस लैपटॉप चार्जर
अभी तक आपने स्मार्टफोन के लिए ही वायरलेस चार्जर के बारे सुना होगा। लेकिन नए साल में आपको लैपटॉप के लिए भी वायरलेस चार्जर देखने को मिल सकता है। हालांकि यह तकनीक अभी इतनी पावरफुल नहीं है कि लैपटॉप की बैटरी को चार्ज कर सके। पिछले कुछ साल में हुए डेवलपमेंट से ऐसे वायरलेस चार्जर देखने को मिले हैं, जो स्मार्टफोन की फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करते हैं। शायद इनसे लैपटॉप भी चार्ज हो सकें। इंटेल और डेल जैसी कंपनियां वायरलेस चार्जिंग का डेमो दिखा चुकी हैं। ऐसे में उम्मीद है कि 2019 में लैपटॉप का वायरलेस चार्जर भी देखने को मिले।

साल 2019 में ये 10 तकनीकें आ रही हैं आपको करने हैरान

सेल्फ ड्राइविंग कार
टेस्ला ने सबसे पहले ऑटो-पायलट फंक्शन वाली कार बनाई थी। हालांकि इसका सीमित इस्तेमाल ही किया जा सकता है। सेल्फ ड्राइव कारें डायरेक्शन के लिए वर्चुअल मैप पर निर्भर रहती हैं और सही ड्राइविंग के लिए सेंसर्स का सहारा लेती हैं। ये दोनों तकनीक मौजूद हैं और इनमें लगातार सुधार भी हो रहा है। ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि सेल्फ ड्राइविंग कारें जल्द ही कंज्यूमर्स के लिए उपलब्ध हो जाएंगी।

48 मेगापिक्सल फोन
बड़ा अपर्चर हुवावे ने कुछ दिन पहले ही चीन में नोवा 4 हैंडसेट को पेश किया है। यह विश्व का पहला फोन है, जिसे 48 मेगापिक्सल के कैमरा सेंसर के साथ पेश किया गया है। 2018 में तो यह तकनीक सिर्फ एक देश तक ही सीमित रही, लेकिन जल्द ही चीन से बाहर भी इस तरह की कैमरे वाले फोन उपलब्ध होने वाले हैं और सिर्फ एक ब्रांड ही नहीं, बल्कि कई कंपनियां इसे पेश करेंगी। जिनमें हुवावे के साथ ही सैमसंग, ऑनर, शाओमी, ओप्पो और वीवो जैसे नाम शामिल हैं।

ज्यादा लेंस
सैमसंग ने गैलेक्सी ए9 को 4 कैमरा सेटअप के साथ पेश किया था। यह फोन तो सिर्फ एक झलक भर है। वर्ष 2019 के लेकर कंपनियां जिस तरह की तैयारी कर रही हैं, उसे देखकर आप हैरान रह जाएंगे। कहा जा रहा है कि नोकिया 5 कैमरे वाला फोन ला रहा है। वहीं, हाल में एलजी ने 16 कैमरा सेंसर के साथ फोन को पेटेंट कराया है। ऐसे में 2019 में कैमरे को लेकर कई तरह के इनोवेशन देखने को मिल सकते हैं।

बड़ा अपर्चर
हाल के दिनों में लो लाइट फोटोग्राफी को लेकर काफी चर्चा रही है। दिन की तेज रोशनी में साधारण कैमरा भी अच्छी तस्वीर ले लेता है, लेकिन रात में परेशानी होती है। ऐसे में कंपनियां बड़े अपर्चर का उपयोग करने लगी हैं, ताकि कैमरा ज्यादा रोशनी कैप्चर करे और बेहतर तस्वीर ले। पिछले साल सैमसंग ने एफ/1.5 वेरिएबल अपर्चर वाला फोन गैलेक्सी एस9 और गैलेक्सी नोट 9 में इसे पेश किया था। वहीं, नए साल में आपको फोन में फिक्स्ड एफ/1.5 और एफ/1.4 अपर्चर देखने को मिलेगा। इससे लो लाइट फोटोग्राफी और बेहतर होगी।

AI से लैस ये 3 ऑनलाइन टूल जिंदगी के काम बनाएंगे आसान

ऑनलाइन अकाउंट्स में बार-बार पासवर्ड बदलना है जरूरी! जानें इससे जुड़े 5 स्मार्ट टिप्स

Technology News inextlive from Technology News Desk