- कॉलेजों को दिए गए एफिलिएशन को लेकर मामले में आने वाला है नया मोड़

PATNA : इंटरमीडिएट टॉपर्स घोटाला मामले में भ् सितंबर को एसआईटी कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी. जेल में बंद बिहार बोर्ड के पूर्व चेयरमैन लालकेश्वर प्रसाद, इनकी पूर्व विधायक पत्‍‌नी उषा सिन्हा, बोर्ड के दो पूर्व सेक्रेटरी हरिहर नाथ झा और मास्टर माइंड बच्चा राय सहित टोटल फ्ख् आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया जाएगा. फ्ख् में से ख्7 आरोपी जेल में हैं.

जबकि जुवनाइल होने के कारण तीन फर्जी टॉपर्स बेल ले चुके हैं. इस मामले में फरार चल रहे लालकेश्वर के दामाद विवेक रंजन, बच्चा राय के पत्‍‌नी, भाई और ट्रस्ट के कई मेंबर को गिरफ्तार किया जाना अभी बाकी है. एसआईटी में शामिल सिटी एसपी सेंट्रल चंदन कुशवाहा के अनुसार इस मामले में जैसे-जैसे गिरफ्तारी होगी, वैसे ही उनका चार्जशीट को भी कोर्ट में दाखिल किया जाएगा.

- जब्त होगी इनकी संपत्ति

आरोपियों के चार्जशीट के साथ ही एसआईटी कोर्ट में इनके अवैध संपत्ति का ब्यौरा भी दाखिल करेगी. ताकि लालकेश्वर और बच्चा राय समेत बाकि आरोपियों के भी अवैध तरीके से अर्जित किए गए संपत्ति को जब्त किया जाए. एसएसपी मनु महाराज के अनुसार संपत्ति से जुड़ी रिपोर्ट तैयार की जा रही है. कोतवाली थाने में हुए एफआईआर में पीसी एक्ट को भी जोड़ा गया था.

- जल्द आने वाला है नया मोड़

खास बात ये है कि इंटरमीडिएट टॉपर्स घोटाला मामले में जल्द ही एक नया मोड़ आने वाला है. पहले टॉपर्स और फिर फर्जी टेंडर घोटाला सामने आया. इन दोनों मामलों में एसआईटी ने तेजी से कार्रवाई भी की. अब जल्द ही एसआईटी एफिलिएशन घोटाला मामले की जांच करने जा रही है.

गौरतलब है कि बोर्ड का चेयरमैन रहते लालकेश्वर प्रसाद ने अवैध तरीके से काफी सारे कॉलेज और स्कूल को एफिलिएशन दे दिया था. एसआईटी इंचार्ज की मानें तो इस मामले में भी काफी सारी गिरफ्तारियां होंगी. इसके बाद एसआईटी प्रिंटिंग घोटाले की जांच करेगी. जिसका मास्टर माइंड लालकेश्वर का फरार दामाद है.