क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : जोन्हा फॉल ने रविवार को एक युवक की जिंदगी लील ली. कोलकाता के गोल तालाब हावड़ा के रहने वाले मो तलहा फिरदौस (25) नामक युवक की जोन्हा फॉल में डूब जाने से मौत हो गई. वह अपने परिजनों के साथ यहां घूमने के लिए आया हुआ था. हालांकि, उसका शव नहीं निकाला जा सका है. शव को खोजने के लिए सोमवार को फिर से एनडीआरएफ की टीम को लगाया जाएगा. गौरतलब है कि 11 अगस्त को ही जोन्हा फॉल में डूबने से तीन छात्रों अंशुमन गुप्ता, राज यदुवंशी व राहुल कुमार की मौत हो गई थी.

ऐसे हुआ हादसा

कोलकाता का रहने वाला मो. तलहा फिरदौस सिटी के बरियातू में रहने वाले मामा वसी अहमद के घर आया था. रविवार को वह अपने मामा व ममेरे भाइयों के साथ हुंडरू फॉल घूमने आया हुआ था. दोपहर में वह वन विभाग क्षेत्र की ओर से जोन्हा फॉल देखने पहुंचा. फॉल से कुछ दूरी पर वह अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ चट्टान पर बैठकर झरना का आनंद उठा रहा था. इसी बीच पैर धोने के लिए पानी के करीब जाने लगा. अचानक पैर फिसला और तेज बहाव की चपेट में आ गया. परिजनों ने बताया कि मृतक की कोलकाता में कपड़े की दुकान है. चार भाइयों में सबसे बड़ा है.

हुंडरू में दो को पर्यटनकर्मियों ने बचाया

इधर, हुंडरूफॉल में मुस्तैद पर्यटनकर्मियों की तत्परता से कोलकाता के ही दो पर्यटकों को डूबने से बचा लिया गया. कोलकाता हुगली के पर्यटक सुमित कुमार व सनत मंडल जानलेवा जागिया दाह के पास एक चट्टान पर चढ़कर सेल्फ ले रहे थे. इसी क्रम में पैर फिसला व दोनों पानी में जा गिरे. पर्यटनमित्र रंजन बेदिया व चंद्रउदय बेदिया ने तत्काल पानी में छलांग लगाकर दोनों को डूबने से बचा लिया. पिछले वर्ष भी हुंडरूफॉल में पर्यटनमित्रों की सजगता के कारण कई पर्यटकों की जानें बचाई गई थी.

सीधे फॉल तक पहुंच रहे हैं सैलानी, हादसे की बन रही वजह

झारखंड पर्यटन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद बताते हैं कि वन विभाग द्वारा बनाए गए रास्ते से आसानी से वाहन फॉल तक पहुंच रहे हैं. पर्यटक भी पैदल चलने के बजाए वाहन से सीधे फॉल तक पहुंच रहे हैं. लेकिन, इधर से जाने पर इनकी सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं होती हैं. उन्होंने पर्यटकों से जोन्हा फॉल के पर्यटकगेट से घूमने जाने की अपील की. इससे गाइड के साथ साथ पर्यटकों की पंजीयन होता है और पर्यटकों की सुरक्षा के लिए लगातार पर्यटनमित्र गश्त लगाते रहते हैं.