RANCHI: राजधानी में अब टूरिस्ट प्लेस की जगह पार्क में ट्वॉय ट्रेन चलाने का प्रस्ताव रांची नगर निगम ने दिया है. नगर आयुक्त ने नगर विकास विभाग को लिखे पत्र में बिरसा मुंडा जेल पार्क का नाम प्रस्तावित किया है, जहां रेलवे की ओर से गिफ्ट किया गया ट्वॉय ट्रेन चलाया जाएगा. ऐसे में शहर के बीचों बीच ट्वॉय ट्रेन से पार्क में घूमने का आनंद ले सकेंगे. बताते चलें कि रेल मंत्रालय ने झारखंड में रांची और जमशेदपुर में दो ट्वॉय ट्रेन गिफ्ट करने को लेकर सीएम को पत्र लिखा था. इसके बाद स्टेट अरबन डेवलपमेंट ने रांची नगर निगम को पत्र लिखकर जानकारी मांगी थी.

टूरिस्ट प्लेस है रांची का बिरसा मुंडा जेल

बिरसा मुंडा 19वीं सदी के एक प्रमुख आदिवासी जननायक थे. उनके नेतृत्व में मुंडा आदिवासियों ने 19वीं सदी के आखिरी वषरें में मुंडाओं के महान आन्दोलन उलगुलान को अंजाम दिया था. बिरसा को मुंडा समाज के लोग भगवान के रूप में पूजते हैं. वहीं उन्हें धरती आबा के नाम से भी लोग जानते है. उन्हें आंदोलन के दौरान जेल में रखा गया था. उनकी स्मृति में ही बिरसा मुंडा जेल को ऐतिहासिक धरोहर घोषित कर दिया गया है, जहां घूमने के लिए लोग पहुंचते है. वहीं पार्क को अब डेवलप किया जा रहा है. इसमें घूमने के साथ ही लेजर शो भी दिखाया जाएगा.

......बॉक्स......

पिठोरिया और जोन्हा का भी था नाम

ट्वॉय ट्रेन चलाने के लिए सुडा ने रांची नगर निगम को पत्र लिखकर जगह चिन्हित करने को कहा था. ऐसे में निगम के अधिकारियों ने पिठोरिया और जोन्हा फॉल का नाम भी प्रस्ताव में रखा था, लेकिन वरीय अधिकारियों ने बिरसा मुंडा पार्क के नाम पर सहमति जताई है.