RANCHI: राजधानी की ट्रैफि क व्यवस्था जल्द ही स्मूथ हो सकती है. ट्रैफि क पुलिस द्वारा ट्रैफि क एप बनाया जा रहा है, इसके माध्यम से शहर के हर ट्रैफि क प्वाइंट पर कितना जाम है, यह पता चलेगा. ट्रैफि क एप्प से पूरे शहर की ट्रैफि क व्यवस्था की मॉनिटरिंग की जाएगी. रांची के सीनियर एसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि शहर में ट्रैफि क लोड को कम करने के लिए ट्रैफि क एप का ट्रायल किया जा रहा है. जैसे ही ट्रायल सक्सेस होगा. इसका इंप्लीमेंटेशन रांची में शुरू कर दिया जाएगा.

हर ट्रैफि क प्वाइंट पर डिवाइस

एसएसपी ने बताया कि ट्रैफिक एप के माध्यम से शहर में जाम की स्थिति का सॉल्यूशन कर लिया जाएगा. इसके तहत शहर में जितने भी ट्रैफि क प्वाइंट हैं, वहां पर एक डिवाइस लगेगी, जिसका कनेक्शन सीधा कंट्रोल रूम से होगा. वहां से पता चलेगा कि किस ट्रैफि क पोस्ट पर अधिक लोड बढ़ रहा है. ट्रैफि क प्वाइंट पर खड़े पुलिस द्वारा जैसे ही बताया जाएगा कि यहां अभी बहुत लोड बढ़ रहा है तत्काल और अधिक ट्रैफि क पुलिस को उस पोस्ट पर भेजा जाएगा और जाम की स्थिति को तुरंत कंट्रोल किया जाएगा.

कंट्रोल रूम से होगी मॉनिटरिंग

इस एप के माध्यम से पूरे ट्रैफिक की मॉनिटरिंग होगी. कंट्रोल रूम में कुछ एक्सप‌र्ट्स को इसे देखने के लिए लगाया जाएगा. जो यह मॉनिटरिंग करते रहेंगे कि किस चौक- चौराहे पर ट्रैफि क का क्या लोड है. चौक-चौराहे पर जो ट्रैफि क पुलिस है उसने क्या इंफ ॉर्मेशन दी है, उसके इंफ ॉर्मेशन के आधार पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी और जाम की स्थिति को नार्मल बनाया जाएगा.

जाम से परेशान रहता है शहर

शहर का ऐसा कोई भी चौक-चौराहा नहीं है, जहां पर जाम की स्थिति ना रहती हो. कांटा टोली, सुजाता चौक, जेल चौक, रातू रोड चौराहा, पिस्का मोड़, एजी मोड़, बिरसा चौक पर हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती है. ट्रैफि क एप्प द्वारा ऐसे चौक-चौराहों की रेगुलर मॉनिटरिंग की जाएगी. इसके तहत पीक आवर में ट्रैफिक प्वाइ्रंट में अगर अधिक पुलिस की जरूरत होगी, तो वहां एक्सट्रा तैनाती की जाएगी, और नार्मल टाइम में जैसी व्यवस्था चल रही है, उस तरह से चलती रहेगी.

वर्जन

रांची में ट्रैफिक व्यवस्था को ठीक करने के लिए एक ट्रैफि क एप बनाया जा रहा है. इसका ट्रायल चल रहा है. जैसे ही इसका ट्रायल सक्सेस होगा, इसे हर ट्रैफि क प्वाइंट पर लगाया जाएगा. टै्रफिक प्वाइंट पर तैनात ट्रैफि क पुलिस इसमें इंफ ॉर्मेशन देंगे, जो क्राइम कंट्रोल सेंटर से कनेक्टेड होगा. वहां क्राइम कंट्रोल सेंटर से मॉनिटरिंग करने के बाद तत्काल उस पर कार्यवाही की जाएगी.

अनीश गुप्ता, एसएसपी रांची