-रेलवे एयरलाइंस की तरह देगा ज्वाइंट पीएनआर की सुविधा

-ट्रेन मिस या कैंसिल होने पर रिफंड पाना भी होगा आसान

varanasi@inext.co.in

VARANASI : रेलवे एक अप्रैल से पैसेंजर्स को कई और नई फैसिलिटी देने जा रहा है. एयरलाइंस कंपनियों की तरह रेलवे भी एक ही यात्रा के दौरान एक के बाद दूसरी ट्रेन पकड़ने वाले यात्रियों को अब ज्वाइंट पैसेंजर नेम रिकॉर्ड (पीएनआर) जारी करेगा. इस नई सुविधा के शुरू होते ही रेलवे यात्रियों को पहली ट्रेन के लेट होने की वजह से अगली ट्रेन के छूट जाने पर बिना कोई चार्ज काटे आगे की यात्रा कैंसिल करने का परमिशन देगा. ये नया नियम सभी क्लास के पैसेंजर्स के लिए लागू होगा. यही नहीं रिफंड के लिए भी नया नियम बनाया गया है. जो एक अप्रैल से प्रभावी हो जाएगा.

पीएनआर लिंक करना होगा आसान

टिकट की बुकिंग के समय ही हर पैसेंजर को एक पीएनआर नंबर मिलता है. यह नंबर उस पैसेंजर का यूनिक कोड है. इसके जरिये पैसेंजर के ट्रेन का नाम सहित उसके बारे में अन्य जानकारी का पता चलता है. अगर आपने दो ट्रेन में टिकट बुक कराया है, तो आपके नाम पर दो पीएनआर जेनरेट होते हैं. लेकिन इस नई सुविधा के उपलब्ध होने के बाद ऐसा नहीं होगा. फिर चाहे आपने ई-टिकट बुक किया हो या विंडो टिकट लिया हो. सभी में दो पीएनआर को लिंक करना आसान होगा.

रिफंड के लिए डिटेल हो एक

रेलवे ने रिफंड के लिए कुछ शर्ते बनायी हैं. पहली शर्त यह है कि यदि पैसेंजर को दो टिकट लेना है तो दोनों पर उसकी डिटेल एक जैसी हो. दूसरा नियम जिस स्टेशन पर पहली ट्रेन पहुंचेगी और जिस स्टेशन से दूसरी ट्रेन पकड़नी है दोनों का एक रूट होना चाहिए.

काउंटर पर रिफंड का मिल जाएगा पैसा

- कैंसिलेशन के लिए भरी गई टीडीआर तीन दिन के लिए मान्य रहेगी जिसे सीसीएमम या रिफंड ऑफिस रिफंड लिया जा सकेगा.

- विंडो टिकट के केस में पहली ट्रेन आने के निर्धारित टाइम के तीन घंटे के अंदर ही आप अपनी दूसरी ट्रेन का टिकट कैंसिल कराया जा सकता है.

- ई-टिकट में रिफंड पाने के लिए जिस स्टेशन से दूसरी ट्रेन पकड़नी है, वहां टीडीआर भरना पडे़गा.