- 80 ट्रेने निरस्त तब 82 प्रतिशत ट्रेनों की टाइमिंग में आया सुधार

- रेलवे की रिपोर्ट के मुताबिक, हावड़ा रूट की ट्रेनों की टाइमिंग में 19 फीसदी का सुधार, 82 परसेंट ट्रेनें चल रही निर्धारित समय पर

- रूट की 80 से ज्यादा ट्रेनें पांच महीने से चल रहीं हैं कैंसिल, ट्रैक पर लोड कम होने के कारण टाइमिंग में हुआ सुधार

-दर्जनों एक्सप्रेस व मेमू ट्रेनें निरस्त होने से पैसेंजर्स परेशान, कानपुर से चलने वाली 100 फीसदीं ट्रेनें चल रही हैं समय पर

kanpur@inext.co.in
kanpur :
दिल्ली हावड़ा रूट की 82 फीसदी ट्रेनों की चाल में सुधार आया है और वो निर्धारित समय से चल रही हैं। कानपुर से चलने वाली तो 100 फीसदी ट्रेनें राइट टाइम चल रही हैं। लाखों पैसेंजर्स के लिए यह अच्छी खबर है। लेकिन, यह सिर्फ आधा सच हैक्योंकि रूट की 80 से ज्यादा ट्रेनें बीते पांच महीने से कैंसिल चल रही हैं। जिसकी वजह से ट्रैक पर लोड कम हुआ है और ट्रेनें समय पर चल पा रही हैं। कैंसिल चल रही दर्जनों ट्रेनों के कारण भी पैसेंजर्स को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। यानि आंकड़ों खेल कर रेलवे कागजों पर अपनी गाड़ी पूरी रफ्तार से दौड़ा रहा है। रेलवे के आंकड़ों के मुताबिक, बीते वर्ष की तुलना में इस वर्ष ट्रेनों की टाइमिंग में 19 प्रतिशत तक सुधार आया है।

परफॉर्मेस में कानपुर सेंट्रल टॉप पर
कानपुर सेंट्रल स्टेशन ट्रेनों के संचालन की टाइमिंग में बेहतर सुधार कर एनसीआर जोन में नंबर वन रहा है। अधिकारियों के मुताबिक वर्तमान में कानपुर सेंट्रल से चलने वाली 100 प्रतिशत ट्रेनें अपने निर्धारित समय पर चल रहीं हैं। कानपुर सेंट्रल स्टेशन एसएस आरएनपी त्रिवेदी ने बताया कि पिछली वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष ट्रेनों के निर्धारित समय से संचालित करने में उनकी टीम ने बेस्ट परफार्मेस दी है।

आउटर से 50 प्रतिशत लोड कम
रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, कानपुर सेंट्रल स्टेशन से गुजरने वाली 82 प्रतिशत ट्रेनों के निर्धारित समय पर दौड़ने की सबसे बड़ी वजह ये है कि आउटर में खड़ी रहने वाली ट्रेनों में 50 प्रतिशत लोड कम हुआ है। इससे लाखों कानपुराइट्स को काफी राहत मिली है।

वंदे भारत व शताब्दी नंबर वन पर
एनसीआर सीपीआरओ गौरव कृष्ण बंसल ने बताया कि वाया कानपुर होकर चलने वाली ट्रेनों में वंदे भारत एक्सप्रेस, स्वर्ण शताब्दी व रिवर्स शताब्दी निर्धारित टाइम पर चलने के मामले में नंबर वन पर हैं। इसके बाद पटना, डिबरूगढ़, गुवाहाटी समेत अन्य राजधानी हैं। जोकि लगभग अपने निर्धारित समय पर चलती हैं। इसके बाद लंबी दूरी का सफर तय करने वाली सुपरफास्ट व एक्सप्रेस ट्रेनों की टाइमिंग में भी काफी सुधार आया है।

-100 प्रतिशत ट्रेनें कानपुर से चलने वाली समय पर हो रही हैं रवाना

-90 प्रतिशत ट्रेनें समय से रवाना होती थी पिछले वर्ष कानपुर से चलने वाली

-82 प्रतिशत ट्रेनें वाया कानपुर चलने वाली निर्धारित समय पर चल रहीं

-63 प्रतिशत ट्रेनें समय पर चलती थी पिछले वर्ष कानपुर से गुजरने वाली

-19 प्रतिशत का सुधार आया है पिछले साल की अपेक्षा ट्रेनों की टाइमिंग में

-50 प्रतिशत लोड कम हुआ है आउटर में खड़ी होने वाली ट्रेनों का

पिछली वर्ष की अपेक्षा कानपुर ने ट्रेनों की टाइमिंग में काफी सुधार आया है। वर्तमान में कानपुर से गुजरने वाली 82 प्रतिशत ट्रेनें निर्धारित समय से दौड़ रही हैं। टाइमिंग में सुधार के मामले में कानपुर सेंट्रेल जोन में नंबर वन रहा है।

डॉ। जितेंद्र तिवारी, डायरेक्टर, कानपुर सेंट्रल स्टेशन