-25 मंजिला होंगी बिल्डिंग्स, कई मल्टीनेशनल कम्पनीज भी करेंगी ट्रांसगंगा सिटी में निवेश

-कैबिनेट की मंजूरी के बाद जमीन अधिग्रहण का मामला भी सुलझा

kanpur@inext.co.in

KANPUR: गंगा के पार क्क्भ्क् एकड़ में यूपीएसआईडीसी ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी बसाएगा. इस प्रोजेक्ट में ख्भ् मंजिला इमारतें होंगी. इसमें स्पेशल इकोनॉमिक जोन भी होगा. आईटी, टेलीकॉम सेक्टर की कई कंपनीज के अलावा सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, यूनिवर्सिटी भी होगी. इसका खाका पहले ही यूपीएसआईडीसी खींच चुका है. कैबिनेट की मंजूरी से ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी का सपना एकबार फिर साकार होता नजर आने लगा है. इस सिटी के बसने से रोजगार के अवसर तो बढ़ेंगे, साथ ही साथ रहने के लिए लोगों को घर भी मिलेंगे. यानि की घर और वर्क स्टेशन सब आसपास ही होगा.

जमीन अधिग्रहण का था विवाद

ट्रांसगंगा हाईटेक सिटी के लिए यूपीएसआईडीसी गंगा बैराज के पार मनभावना, कन्वापुर और शंकरपुर की क्क्भ्क् जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई कर रहा है. लेकिन भ्.भ्0 लाख रुपए प्रति बीघा मुआवजा दिए जाने से किसानों में नाराजगी थी. वे मुआवजा बढ़ाए जाने की मांग कर रही थी. अब 7 लाख रुपए प्रति बीघा मुआवजा और बढ़ा दिया गया है. इसके साथ भूमिहीन हो जाने वाले किसानों को भ्0 से लेकर ख्00 स्क्वॉयर मीटर तक जमीन और रोजगार दिए जाने पर सहमति बन गई है. यूपीएसआईडीसी ऑफिसर्स के मुताबिक इस हाईटेक सिटी में फोर्टिस ग्रुप का ख्भ्0 बेड का सुपर स्पेशयलिटी हॉस्पिटल, एमिटी यूनिवर्सिटी, फाइव स्टार होटल के अलावा कई सेक्टर की कम्पनीज के ऑफिस भी होने का दावा यूपीएसआईडीसी के ऑफिसर कर रहे हैं. यूपीएसआईडीसी के ऑफिसर मनोज सिंह ने बताया कि इस हाईटेक सिटी का खाका पहले ही खींच लिया गया है. इसका मॉडल भी लांच किया जा चुका है. इस सिटी में कई बड़े औद्योगिक समूह निवेश करने के लिए आएंगें. उनसे सहमति भी मिल चुकी है.