डीजल के दाम बढ़ने के बाद भाड़ा बढ़ाने की तैयारी में ट्रांसपोर्टर्स

मुनाफा कम हो जाने से माल ढोने में कतरा रहे हैं वाहन मालिक

vineet.tiwari@inext.co.in

ALLAHABAD: डीजल के बढ़ते दाम महंगाई को दावत देने वाले हैं. दाल, चावल, गेहूं सहित फल और सब्जी के दामों में आग लग सकती है. डीजल का रेट बढ़ने के बाद से लगातार घाटा उठा रहे ट्रांसपोर्टर्स भाड़ा बढ़ाने के मूड में हैं. इसके लिए आपस में फैसला कर वह जल्द ही सरकार से इसकी मांग कर सकते हैं.

50 से 70 रुपए हो सकता है भाड़ा

वर्तमान में दस टन वाहन का भाड़ा पचास रुपए प्रति किमी निर्धारित है. इसके पहले 2014 में भाड़ा बढ़ाया गया था. डीजल के दाम बढ़ने से फिर महंगाई दस्तक दे रही है. ऐसे में ट्रांसपोर्टर्स भाड़ा बढ़ा दें तो नई बात नही होगी. भाड़े में बीस रुपए तक की वृद्धि हो सकती है. हालांकि, मार्केट में काम्पिटिशन अधिक होने की स्थिति में भाड़े में वृद्धि कम पैमाने पर भी हो सकती है. लेकिन, बढ़ोतरी तय मानी जा रही है.

25 हजार में फुल हो रही टंकी

ट्रांसपोर्टर्स का कहना है कि माल ढोने की लागत तेजी से बढ़ रही है. मद्रास जाने वाली गाड़ी की टंकी पहले 19 हजार रुपए में फुल होती थी. अब उसी डीजल टैंक को पूरा भरने में 25 हजार रुपए खर्च हो रहे हैं. दोनों ओर से 10 से 15 हजार रुपए का अधिक डीजल खर्च हो रहा है. इसी तरह वाराणसी से माल लाने में व्यापारी दस चक्के वाहन का 7 हजार रुपए अदा करते हैं. डीजल का दाम बढ़ने से फायदा काफी कम हो गया है.

बॉक्स..

नो एंट्री और टैक्स ने बिगाड़ा गणित

डीजल के अलावा नो एंट्री और तमाम टैक्सेस ने ट्रांसपोर्टर्स की बैंड बजा दी है. वाहन मालिकों का कहना है कि नो एंट्री की वजह से उनकी गाडि़यां तीन से चार दिन तक लेट हो जाती हैं जिससे फायदे की जगह नुकसान होता है. टोल टैक्स और घूसखोरी से खर्चा बढ़ गया है. सरकार ने राहत नही दी तो वह आंदोलन पर बाध्य हो सकते हैं.

आज मिटिंग में लेंगे फैसला

नवीनतम परिस्थितियों पर विचार करने के लिए प्रयाग ट्रांसपोर्ट यूनियन शुक्रवार शाम बुलाई गयी है. इसमें डीजल के दाम में लगातार हो रही वृद्धि के चलते दाम बढ़ाने पर चर्चा होगी साथ ही डीजल के दाम कम करने के लिए सरकार पर प्रेशर बनाने की रणनीति भी तय होगी.

फैक्ट

150

इलाहाबाद में कुल ट्रांसपोर्टर्स

6000

कुल गाडियां

50

रुपये प्रति किमी है प्रति टन दस चक्का ट्रक का भाड़ा

20

रुपये प्रति किमी. दाम बढ़ाने का प्रस्ताव हो सकता है पास

डीजल के दाम में लगी आग

तिथि दाम प्रति लीटर

14 मई 66.63

15 मई 66.85

16 मई 67.06

17 मई 67.28

18 मई 67.58

19 मई 67.81

20 मई 68.32

21 मई 68.58

22 मई 68.58

23 मई 68.84

24 मई 69.03

25 मई 69.26

26 मई 69.41

27 मई 69.57

28 मई 69.68

29 मई 69.82

30 मई 69.81

डीजल का दाम बढ़ने से वर्तमान भाड़े में हमारा नुकसान हो रहा है. यही हाल रहा तो किराया बढ़ाना हमारी मजबूरी होगी. शुक्रवार की मिटिंग में इस पर फैसला हो सकता है.

अमर वैश्य मुन्ना भईया,

अध्यक्ष, प्रयाग ट्रांसपोर्ट यूनियन

मुनाफा हो नही रहा है, टैक्स बढ़ गए और डीजल का दाम लगातार बढ़ रहा है. लगता है गाडि़यों को कबाड़ी के हाथों बेचना पड़ेगा. अब तो इस धंधे में फायदा नजर नही आ रहा है.

गिरिजेश मिश्रा,

महामंत्री, प्रयाग ट्रांसपोर्ट यूनियन

भाड़ा बढ़ेगा तो हमें फायदा होगा लेकिन रोजमर्रा की खपत की चीजों के दाम बढ़ जाएंगे. हम क्या करें, हमें भी अपना परिवार चलाना है. जिसकी लिए हम बैठक का आयोजन कर रहे हैं.

बबलू, ट्रांसपोर्टर