गाजियाबाद, लखनऊ, हरिद्वार, देहरादून जाने वाले यात्रियों को होगी परेशानी

गर्मियों की छुट्टियों में यात्रियों को होगी दिक्कत

MEERUT। गर्मियों की छुट्टियों में यदि आप रोडवेज की मोस्ट वीआईपी एसी बस सर्विस स्कैनिया के भरोसे बैठे हैं तो आपको मुश्किल हो सकती है। दरअसल, एक जून से परिवहन विभाग अपने कई रूट पर स्कैनिया बसों का संचालन बंद करने जा रहा है इन रूट में वाया मेरठ जाने वाली आधा दर्जन से अधिक स्कैनिया बसों का सफर भी शामिल है। ऐसे में मेरठ के यात्रियों को रोडवेज की एकमात्र एसी बस सर्विस जनरथ के भरोसे रहना पड़ेगा। आरएम नीरज सक्सेना ने बताया कि

स्कैनिया बसों का डायरेक्ट संचालन मेरठ से नही होता है। गर्मियों के लिए जनरथ बसों की संख्या बढ़ाई गई है मुख्यालय स्तर पर और अधिक बसों की डिमांड की जाएगी।

एक जून से सर्विस नहीं

मुख्यालय स्तर पर वोल्वो और स्कैनिया बस सर्विस को एक जून से यूपी के 33 रूट पर संचालन बंद किया जा रहा है। विभाग की मानें तो कंपनी के मालिकों का कुछ विवाद के चलते परिवहन निगम ने भुगतान पर रोक लगा दी है। ऐसे में कंपनी का करीब डेढ़ करोड़ रुपए का भुगतान रोक दिया गया। ऐसे में एक जून से प्रदेश स्तर पर 33 रूट पर बसों का संचालन नही होगा।

स्कैनिया के बदले मिलेगी जनरथ

लग्जरी बसों में गिनी जाने वाली स्कैनिया बस का संचालन डायरेक्ट मेरठ से नही होता है, लेकिन वाया मेरठ गाजियाबाद से देहरादून, लखनऊ से देहरादून और आगरा के रुट पर चलने वाली बसें मेरठ होकर गुजरती हैं। ऐसे में लखनऊ, हरिद्वार, दिल्ली, देहरादून जाने वाले यात्रियों के लिए स्कैनिया बसों का इंतजार निराशाजनक हो सकता है। यात्रियों को इन जगहों पर जाने के लिए रोडवेज की एसी बस सेवा जनरथ का सहारा लेना होगा।

मात्र 7 जनरथ के भरोसे

गर्मियों के सीजन में एसी बसों के यात्रियों की संख्या में इजाफा हो जाता है। ऐसे में मेरठ रीजन मे मात्र 7 जनरथ बस सेवा का संचालन यात्रियों की संख्या के हिसाब से कम पड़ सकता है। इन 7 बसों में सीट के लिए गर्मियों के दिनों में मारामारी हो जाती है ऐसे में बस स्कैनिया सर्विस बंद होने से जनरथ बसों का लोड और अधिक बढ़ जाएगा।

फैक्ट

7 एसी जनरथ बसों का संचालन होता है मेरठ से

2 जनरथ बसें शामली से लखनऊ और 5 जनरथ बसों का दिल्ली से देहरादून रूट पर संचालन

55 से 60 यात्रियों के बैठने की व्यवस्था होती है एक बस में

7 बसों मे मात्र 450 के करीब यात्रियों को मिलेगी एसी बस में सफर की सुविधा

60 फीसदी रोजाना होता है एस बसों में यात्रियों की संख्या में इजाफा

10 से 12 हजार यात्री औसतन रोजाना करते हैं एसी बसों में सफर

वोल्वो और स्कैनिया बस सर्विस को एक जून से यूपी के

33 रूट पर स्कैनिया बस का संचालन बंद होगा यूपी में