ह्मड्डठ्ठष्द्धद्ब : कांटाटोली फ्लाईओवर निर्माण को लेकर बुधवार को शुरु हुए ट्रायल रन के पहले दिन ट्रैफिक काफी हद तक कंट्रोल में रहा. इस दौरान बदले हुए रूट से वाहनों की आवाजाही के दौरान जाम की वैसी स्थिति पैदा नहीं हुई, जितनी आशंका जताई जा रही थी. दरअसल, बहू बाजार से कांटाटोली और कांटाटोली कब्रिस्तान से कोकर चौक तक ट्रैफिक बंद किए जाने से डायवर्ट रूट पर वाहनों का दबाव तो सामान्य दिनों की तुलना में काफी ज्यादा था, लेकिन पुलिस प्रशासन की सतर्कता से शहर की रफ्तार पर ब्रेक नहीं लगा. इस दौरान हर चौक-चौराहे के साथ जगह-जगह अतिरिक्त पुलिस और ट्रैफिक कर्मी तैनात थे, जिस वजह से वाहनों का आवागमन सामान्य तरीके से होता रहा.

सुबह नौ बजे से ट्रायल शुरू

फ्लाईओवर निर्माण को लेकर कोकर-बहुबाजार मार्ग पर बुधवार की सुबह नौ बजे से ट्रायल रन शुरु हुआ, जो रात 8.30 बजे तक जारी रहा. इसे लेकर तय समय से पहले ही ट्रैफिक पुलिस ने चौक-चौराहों पर मोर्चा संभाल लिया था. बहू बाजार के पास व कोकर चौक के पास बैरियर लगा वाहनों को कांटाटोली की ओर बढ़ने से रोक दिया गया. हालांकि, ट्रैफिक रूट में किए गए बदलाव की जिन्हें जानकारी नहीं थी, उन्हें इस वजह से खासी परेशानी हुई. ट्रैफिक पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद उन्हें गाड़ी घुमानी पड़ी और बदले रुट से ही अपने गंतव्य की ओर जाना पड़ा.

दो रुट पर नहीं चले चार पहिया वाहन

बहू बाजार के नयाटोली पेट्रोल पंप से लेकर कांटाटोली और कांटाटोली से कोकर चौक तक चार पहिया वाहनों को नहीं आने-जाने दिया गया. इसके लिए जहां सुजाता चौक, मुंडा चौक की ओर से आने वाले वाहनों को बहूबाजार चौक पर रोका जा रहा था वहीं इन्हें बहूबाजार चौक से डायवर्ट करते हुए कर्बला चौक, मिशन चौक होते हुए गंतव्य की ओर भेजा गया. दूसरी तरफ, बूटी मोड़ व खेलगांव की ओर से आने वाले वाहनों को कोकर चौक से लालपुर रूट में डायवर्ट कर दिया गया. हालांकि, डंगराटोली से कांटाटोली चौक होते हुए नामकुम के रास्ते वाहनों का सामान्य तरीके से आवागमन होता रहा.

आगे जारी रह सकता है ट्रायल

कांटाटोली फ्लाईओवर निर्माण को लेकर बुधवार को हुए ट्रायल रन की सफलता को देखते हुए आगे भी इसे लागू किया जा सकता है. वैसे गुरुवार को भी ट्रायल रन होना सुनिश्चित है, लेकिन आगे इसे लागू किया जाएगा या नहीं, इसका फैसला होना बाकी है. गौरतलब है कि यह ट्रायल फ्लाईओवर निर्माण कार्य के दौरान आने वाली समस्याओं और जाम की स्थिति को समझने के लिए की जा रही है.

फ्लाईओवर बनने में लगेंगे कम से कम दो साल

कांटाटोली फ्लाईओवर निर्माण कार्य पूरा करने के लिए दो साल का वक्त संबंधित एजेंसीज को दिया गया है. ऐसे में इसका काम चालू होने के बाद कांटाटोली से बहू बाजार व कोकर रूट में वाहनों के आवागमन पर रोक लगा दी जाएगी. डायवर्ट रूट से वाहनों का परिचालन किया जाएगा. ऐसे में बदले हुए रूटों पर वाहनों का दबाव बढ़ने से जाम की समस्या और बढ़ सकती है. इसे लेकर ही ट्रायल रन किया जा रहा है, ताकि इसके आधार पर आगे के ट्रैफिक की रणनीति तैयार की जा सके.

वनवे हो सकता है रूट

ट्रायल रन प्रयोग के बाद संबधित रूट पर वनवे व्यवस्था किया जा सकता है। इसके लिए तैयारी की जा रही है। संभावना है कि बहू बजार से चर्च रोड जाने वाली सड़क को वनवे किया जा सकता है। वहीं कोकर से लालपुर जाने के इंडस्ट्रियल एरिया के सड़क का उपयोग किया जा सकता है। इसी प्रकार अन्य सड़कों पर भी विचार किया जा रहा है।