-ड्राइवर ने फर्जी लूट की सूचना दी थी

-पूर्व चेयरमैन के बेटे व ड्राइवर समेत 3 गिरफ्तार

BAREILLY: भोजीपुरा में नैनीताल रोड से चावल की किनकी भरा ट्रक लूटा नहीं गया था, बल्कि ड्राइवर ने ही ट्रक लूट का खेल खेला था. उसने शराब पीने के दौरान ही कुछ बदमाशों के साथ सस्ते दाम में किनकी बेचने का प्लान बना लिया और फिर खुद को बंधक बनाकर लूट की कहानी रच डाली, लेकिन जीपीएस ने उसका खेल बिगाड़ दिया. जीपीएस से ट्रक की लोकेशन भोजीपुरा में ही मिली तो पुलिस का शक बढ़ गया. सख्ती से पूछताछ में उसने पूरी कहानी बयां कर दी. फर्जी लूट के खेल में धौराटांडा के पूर्व चेयरमैन अब्दुल अजीज का बेटा फैसल भी शामिल था. पुलिस ने ड्राइवर, पूर्व चेयरमैन के बेटे समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं वारदात में शामिल दो अन्य की तलाश की जा रही है.

बंधक बनाकर लूट की सूचना

एसपी रूरल डॉ. सतीश कुमार ने पुलिस लाइंस में प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि दिवाली की रात करीब साढ़े 10 बजे बरसत, धरोंडा करनाल हरियाणा निवासी सोनू ने प्रहलादपुर के प्रधान के नंबर से सूचना दी थी कि उसे बंधक बनाकर ट्रक लूट लिया गया है. जब मौके पर पुलिस पहुंची तो ड्राइवर सोनू शराब के नशे में मिला. उसने बताया कि लुटेरों ने उसके हाथ पीछे बांध दिए थे और मुंह भी बांध दिया था. जब पुलिस ने उससे पूछा कि बंधन से कैसे खुले तो उसने कहा कि मुंह से कपड़ा हिलाने से निकल गया और हाथ उसने मुंह से खोल लिए, जिससे पुलिस को उस पर शक हो गया.

धौराटांडा ही मिली ट्रक की लोकेशन

पुलिस ने जांच शुरू की ओर ट्रक मालिक हरियाणा निवासी विनोद गिरी से फोन पर पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि ट्रक में जीपीएस लगा हुआ है. उन्होंने ट्रक की लोकेशन ट्रैक कर बतायी तो सामने आया कि ट्रक धौराटांडा से लोड हुआ था और बहेड़ी जाने के बाद वापस धौराटांडा आ गया था. इसी एरिया में ट्रक लूट की सूचना दी गई. जिसके बाद पुलिस ने मुखबिरों की मदद ली तो पता चला कि ट्रक कहां पर खड़ा है. जब पुलिस ने सोनू से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसकी बहेड़ी में शराब पीने के दौरान इस्लामपुर शेरगढ़ निवासी सादाब, धौराटांडा निवासी फैसल, सोहराब और चांदपुर बिजनौर निवासी नईम से मुलाकात हुई थी. उसने 2 लाख से अधिक की कीमत का चावल 70 हजार रुपए में बेच दिया था.