ranchi@inext.co.in
HAZARIBAGH :
नक्सलियों के खिलाफ गुरुवार को चतरा व हजारीबाग पुलिस को खासी सफलता मिली। चतरा पुलिस ने टंडवा थाना क्षेत्र के बकचोमा जंगल से तीन सिलेंडर बम बरामद किए हैं। इसके साथ ही सिमरिया थाना क्षेत्र के घने जंगलों में दासी पहाड़ी की चोटी पर स्थित टीएसपीसी के स्थाई कैंप को ध्वस्त कर दिया। इधर हजारीबाग के कटकमदाग पुलिस व सीआरपीएफ ने जेपीसी (झारखंड प्रस्तुति कमेटी) के दो हार्डकोर उग्रवादियों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार उग्रवादियों पर लेवी व अपहरण के आधा दर्जन सहित कई मामले दर्ज हैं। इनमें से एक विनोद गंझू उर्फ समीर जी सदर थाना चतरा तथा नरेश गंझू सिमरिया चतरा निवासी है।

सीआरपीएफ की छापेमारी

पुलिस अधीक्षक अखिलेश बी वारियर ने बताया कि उग्रवादियों ने टंडवा के हेसातु-कांहुखाप के बकचोमा जंगल के रास्ते में सिलेंडर बम लगा रखा था। जिला बल और सीआरपीएफ की टीम उग्रवादियों के विरुद्ध छापेमारी में निकली थी। पुलिस के जवान पैदल चल रहे थे और रास्ते को मेटल डिटेक्टर से जांच कर रहे थे। इसी क्रम में विस्फोटक होने का संदेह हुआ। जवानों ने जब जांच की, तो दस से पंद्रह फुट की दूरी पर तीन सिलेंडर बम बरामद हुआ। एसपी ने बताया कि बम निरोधक दस्ता को बुलाकर उसे विस्फोट करवा दिया गया। अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि सिलेंडर बम किस उग्रवादी संगठन ने लगाए थे। वहीं सिमरिया के दासी पहाड़ी कैंप से उग्रवादी भागने में सफल रहे। पुलिस को कैंप से भारी मात्रा में खाने-पीने के सामान, बर्तन, गैस सिलेंडर, मोबाइल चार्जर, वर्दी, सोलर प्लेट आदि बरामद हुए। कैंप में मौजूद उग्रवादी पुलिस दल को देखते ही भाग खड़े हुए।

पुलिस को उड़ाने की साजिश नाकाम
पारसनाथ पहाड़ पर गुरुवार को पुलिस एवं सीआरपीएफ की टीम ने नक्सलियों की लैंड माइंस विस्फोट की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया। करीब डेढ़ से दो किमी। की दूरी पर बिछाए गए 33 आइईडी को पुलिस ने बरामद कर नष्ट कर दिया। एक-एक बम करीब पांच से छह किलो का था। एसपी सुरेंद्र कुमार कुमार झा एवं एएसपी अभियान दीपक कुमार ने टीम का नेतृत्व किया।

पत्नी को 'आई लव यू' कहकर कानपुर एसपी ने खाया जहर, पढ़ें क्या-क्या लिखा सुसाइड लेटर में

सुसाइड का प्रयास करने वाले कानपुर एसपी सुरेंद्र दास की हालत में सुधार नहीं : अस्‍पताल

Crime News inextlive from Crime News Desk