घर और समाज के विरोध के बाद पुलिस की शरण में पहुंची दो लड़कियां

मथुरा (पीटीआई)उत्तर प्रदेश के मथुरा शहर में दो लड़कियां पुलिस के पास पहुंची और उनसे मदद मांगी। इन दोनों का कहना है कि वह दोनों बालिग हैं और आपस में शादी करना चाहती हैं लेकिन उनके पेरेंट्स इस रिश्ते के पूरी तरह से खिलाफ है। पुलिस के एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने इस तरह की शिकायत की पुष्टि की है। पुलिस के मुताबिक यह दोनों ही लड़कियां एक ब्यूटी पार्लर में साथ काम करती हैं। पिछले 4 सालों के दौरान इन दोनों के बीच काफी गहरी दोस्ती और फिर नजदीकी आई। इनमें से एक लड़की मंत एरिया से हैं जबकि दूसरी सिद्धार्थनगर की रहने वाली है।

भारत में ऐसी शादी और ऐसा रिश्‍ता दोनों ही कानूनी तौर पर अवैध हैं

बता दें कि इन दोनेां लड़कियों की आपस में शादी को लेकर जो विरोध है उसके पीछे समाज ही नहीं अकेला नहीं है, बल्कि भारतीय कानून भी उनका साथ नहीं देता। क्योंकि भारत में समलैंगिक शादियां अवैध हैं और समलैंगिकता को IPC की धारा 377 के तहत अपराध माना गया है।

मथुरा में ये दो लड़कियां करना चाहती हैं शादी,लेकिन पुलिस भी नहीं कर पा रही उनकी मदद?

पुलिस ने ऐसे निकाला इस समस्‍या का हल

जिले के डिप्टी एसपी राकेश कुमार ने मीडिया को बताया कि रविवार को इन दोनों लड़कियों ने जमुनापार पुलिस स्टेशन के एसएचओ हरेंद्र पाल सिंह से संपर्क किया और अपनी शादी कराने के लिए उनसे मदद मांगी। ये दोनों लड़कियां अपनी शादी को लेकर अपने परिवारों द्वारा किए जानेवाले विरोध से बचने के लिए पुलिस की मदद चाह रही हैं। राकेश कुमार का कहना है कि इन लड़कियों को परिवार वालों के अलावा पुलिस द्वारा भी काफी काउंसिल किया गया ताकि ऐसी शादी करने का अपना इरादा वो छोड़ दें। फिलहाल ये दोनों लड़कियां ये शादी न करने को लेकर मान गई हैं और दोनों लड़कियां को उनके परिवार वालों के साथ वापस भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें:

एक्‍टर अरमान कोहली पर उनकी लिव-इन पार्टनर ने किया केस, क्रूरता से मारने का आरोप, सोफिया हयात के साथ भी कर चुके हैं बदसलूकी

मुंबई: एक बैंक कर्मचारी को उस ऑनलाइन डेटिंग के लिए देने पड़ गए 12 लाख, जिस पर वो कभी गया ही नहीं!

Crime News inextlive from Crime News Desk