-बिधनू में नहर में मौजमस्ती के लिए कूदे 3 छात्र डूबे, दो की मौत, एक ने बचाई जान

-घर से कोचिंग जाने की बात कहकर निकले थे तीनों, मौत की खबर मिलेते ही घर में पसरा मातम

kanpur@inext.co.in

kanpur: बकरीद की छुट्टी पर बिधनू थानाक्षेत्र में मौजमस्ती के लिए नहर नहाने पहुंचे 3 दोस्त डूब गए. इनमें से एक ने किनारे उगी घास पकड़ कर किसी तरह अपनी जान बचा ली, जबकि दो अन्य दोस्तों की डूबने से मौत हो गई. दोनों ही अपने घर के इकलौते चिराग थे, जिनकी मौत की खबर मिलते ही घरों में मातम छा गया. सूचना पर पहुंची पुलिस ने गोताखोर की मदद से दोनों छात्रों के शव नहर से बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए.

झाडि़यां पकड बचाई जान

वेडनसडे को बर्रा-8 में रहने वाला पॉलीटेक्निक छात्र शशांक(19), 12 वीं का छात्र उत्कर्ष और नीट की तैयारी कर रहा कृष्णकांत(21) तीनों दोस्त थे. बुधवार सुबह तीनों ही कोचिंग जाने की बात कहकर अपने-अपने घर से निकले थे लेकिन कोचिंग न जाकर एक स्कूटी पर सवार होकर बिधनू के कल्यानीपुरवा रामगंगा नहर के पास मौज मस्ती करने पहुंच गए. नहर के पास पुलिया पर तीनों ने स्कूटी पेड़ के नीचे खड़ी कर दी और नहर में नहाने के लिए पुलिया से कूद गए. नहर में तेज बहाव होने के कारण तीनों डूबने लगे. इस बीच शशांक ने झाडि़यां पकड़ कर किसी तरह अपनी जान बचा ली.

अब किसको बांधेंगे राखी..

डूबने वाले दोनों ही छात्र घर के इकलौते चिराग थे. बिधनू थानाध्यक्ष संजीव चौहान के अनुसार मृतक कृष्णकांत के पिता अनिल नायक कानपुर देहात स्थित रनिया इलाके की एडविल ऑयल फैक्ट्री में मैनेजर हैं. वह तीन बहनों में इकलौता भाई था. भाई की मौत से दोनों बहनें मोना, शालू बिलखते हुए सबसे पूछ रही थीं कि अब वो किसको राखी बांधेंगी. जबकि, तीसरी बहन दिल्ली में रहकर पढ़ाई कर रही है, जिसे रक्षाबंधन पर घर आना था. पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है.