ड्राइवर की कमी
हम बात कर रहें हैं भारत के ऊबर ड्राइवर्स की। इन सभी को इतना बोनस मिल जाता है कि इनको ज्‍यादा ड्राइविंग करने की जरूरत ही नहीं पड़ती हैं। दरअसल इनकी कंपनी ऊबर के पास पर्याप्‍त ड्राइवर नहीं हैं। अपनी इस कमी को पूरा करने के लिए कंपनी ने 'ऊबर दोस्‍त' नाम की एक पॉलिसी शुरू की है। इस पॉलिसी के तहत जो भी ऊबर ड्राइवर कंपनी को अच्‍छा ड्राइविंग करने वाला ड्राइवर रिफर करेगा उसको कंपनी बोनस देगी। कंपनी हर ड्राइवर पर हजारों में बोनस देती है। ये पॉलीसी कंपनी ने तीन शहरों में शुरू की है। ऊबर बैंगलुरू में 5,000 रुपये प्रत्‍येक ड्राइवर देती है और 3,000 रुपये प्रति ड्राइवर मुंबई और हैदराबाद में देती हैं।

बढ़ाना है बिजनेस
कंपन इस पॉलिसी के जरिए अपना बिजनेस बढ़ाना चाहती है। इस पॉलिसी ने उनके पास ज्‍यादा ड्राइवर हो जाएंगे जिससे वो ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को सर्विस दे पाएंगे। इस पॉलिसी में कंपनी ने अपने ड्राइवरों से अन्‍य ड्राइवर्स लाने को इसलिए कहा कि क्‍योंकि उनका मानना है कि ड्राइवरों की अपने बड़े स्‍ट्रांग नेटवर्क होते है जिसके जरिए वो बेहतर ड्राइवर्स लेकर आते हैं। कंपनी की इस पॉलिसी को मानना पड़ेगा क्‍योंकि ये कंपनी और ड्राइवर दोनों के लिए फायदेमंद है।

Business News inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk