अयोध्या (एजेंसियां)। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपनी पार्टी के 18 सांसदों के साथ रविवार को अयोध्या पहुंचे। न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक यहां उन्होंने शिवसेना सांसदों और परिवार के साथ रामलला के दर्शन कर पूजा अर्चना की। शिवसेना प्रमुख की पत्नी रश्मि और बेटे आदित्य भी साथ माैजूद रहे। दर्शन के बाद उद्धव ठाकरे ने संवाददाता सम्मेलन संबोधित की।

सरकार को राम मंदिर के निर्माण के लिए अागे बढ़ना चाहिए
इस दाैरान उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की बात पर ही भाजपा के साथ गठबंधन किया था। ऐसे में अब मंदिर निर्माण की बात पर अगला कदम बढ़ाना चाहिए। उन्होंने यह भी कि अयोध्या में राम मंदिर बनेगा। यह काम पीएम नरेंद्र मोदी कर सकते हैं। हम पूरी तरह से उनके साथ हैं। ऐसे में सरकार को राम मंदिर के निर्माण के लिए अागे बढ़ना चाहिए।

ठाकरे का अयोध्या आना आस्था नहीं बल्कि राजनीति का विषय

ऐसे में बाबरी मस्जिद मामले के पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि ठाकरे का पार्टी के सांसदों के साथ अयोध्या आना आस्था का विषय नहीं बल्कि राजनीति का विषय है। वहीं न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक महाराष्ट्र में इस साल के अंत में चुनाव होंगे और इस यात्रा को शिवसेना द्वारा राम मंदिर मुद्दे पर सहयोगी भाजपा पर दबाव बनाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है।
शिवसेना को महाराष्ट्र में जल्द मिल सकता है उप मुख्यमंत्री का पद
बाल ठाकरे जयंती : जो मुख्यमंत्री बन सकते थे लेकिन कभी चुनाव नहीं लड़ा, एक किंगमेकर की कहानी
ठाकरे की यात्रा को चुनावी लेंस से नहीं देखा जाना चाहिए
हालांकि सेना ने स्पष्ट किया है कि ठाकरे की यात्रा को चुनावी लेंस से नहीं देखा जाना चाहिए। पार्टी नेता संजय राउत ने शनिवार को कहा था कि ठाकरे नवंबर में किए गए वादे को पूरा कर रहे हैं। बता दें कि यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक सप्ताह पहले अयोध्या में रामलला की पूजा अर्चना की थी। लोकसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद उनकी पहली यात्रा थी।

National News inextlive from India News Desk