डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो ने जारी की पब्लिक नोटिस

यूनिवर्सिटी ने कहा, नहीं ले रहे कोई एडमिशन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: अगर आप सैम हिग्गिनबॉटम यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी (शुआट्स) में एडमिशन लेने जा रहे हैं तो एलर्ट हो जायें और यह चेक कर लें कि यूनिवर्सिटी आपको कौन से मोड में एडमिशन दे रही है? यूजीसी के डिस्टेंस एजूकेशन ब्यूरो का दावा है कि यूनिवर्सिटी लगातार आदेशों का उल्लंघन कर रही है. इस दावे के विपरीत यूनिवर्सिटी का कहना है कि वह डिस्टेंस एजुकेशन का कोर्स संचालित ही नहीं कर रही. सच जो भी हो लेकिन ब्यूरो ने यूनिवर्सिटी के ओपन एंड डिस्टेंस कोर्सेज पर चार साल का बैन लगा दिया है.

एक भी एडमिशन नहीं ले सकते

शुआट्स में इन दिनो न्यू एकेडमिक सेशन में प्रवेश के लिये एडमिशन प्रॉसेस चल रहा है. ऐसे समय जून 2017 में यूजीसी के डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो ने पब्लिक नोटिस जारी करके कहा है कि यूनिवर्सिटी लगातार मना करने के बाद भी डिस्टेंस एजुकेशन मोड में कोर्स का संचालन कर रही है. डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो फिरोज शाह जफर रोड नई दिल्ली के ज्वाइंट सेक्रेटरी की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि यूनिवर्सिटी किसी भी ओपन एंड डिस्टेंस एजुकेशन के पाठ्यक्रम में एडमिशन नहीं ले सकती.

बाक्स

शुआट्स या शियाट्स

ना‌र्म्स, गाइडलाइन एंड डायेक्टिव्स के लगातार उल्लंघन से भड़के ब्यूरो ने यूनिवर्सिटी में कोर्स के संचालन पर एकेडमिक सेशन 2016-17 से 2019-20 तक बैन लगाया है. इसके पीछे कारण कोर्स का एप्रूवल न होना बताया है. हालांकि, चौंकाने वाली बात यह भी है कि शियाट्स से शुआट्स बन चुके नैनी स्थित इस संस्थान को यूजीसी अभी भी सैम हिग्गिनबॉटम इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चर टेक्नोलॉजी एंड साइंसेस (शियाट्स) के नाम से ही पहचान रही है. पब्लिक नोटिस में शुआट्स को शियाट्स ही लिखा गया है. ऐसे में यूनिवर्सिटी का दर्जा मिलने के बाद भी जानकार इस बात को लेकर हैरत में है कि क्या इसकी जानकारी शीर्ष लेवल पर अभी तक नहीं दी गई है?

बाक्स

50 हजार से ज्यादा होता था प्रवेश

यूनिवर्सिटी के वेबसाइट के जरिये जो जानकारी दी जा रही है. उसमें बताया गया है कि यूनिवर्सिटी डिस्टेंस एजुकेशन एंड प्रोफेशनल एंड लाइफ लांग एजुकेशन के तहत कुल 28 यूजी, 48 पीजी, 11 डिप्लोमा एंड डाक्टोरेट्स प्रोग्राम का संचालन कर रही है. इसमें बीसीए, एमसीए, पीजीडीसीए, पीजीजेएमसी, एमबीए, बीबीए, एमए, बीए, एमकॉम, बीकॉम, एमएसडब्ल्यू आदि कोर्स शामिल हैं. ये सभी कोर्स कम्प्यूटर साइंस, मैनेजमेंट प्रोग्राम, ह्यूमिनिटीज आर्ट एंड कॉमर्स से जुड़े हैं. डायरेक्टरेट ऑफ डिस्टेंस एजुकेशन के तहत एकेडमिक सेशन 2013-14 में स्टूडेंट्स के एनरालमेंट की संख्या 74,550, सेशन 2014- 15 में 66,116 एवं 2015-16 में एनराल्ड स्टूडेंट्स की संख्या 66,188 बताई गई है.

हमारे यहां वर्तमान में रेगुलर कोर्स में एडमिशन चल रहे हैं. हमने डिस्टेंस एजुकेशन मोड में प्रवेश 2016 से नहीं लिया है. यूनिवर्सिटी की पूरी कोशिश है कि डिस्टेंस एजुकेशन की पढ़ाई फिर से शुरू हो. इस साल भले ही देर से लेकिन पूरा प्रॉसेस कंपलीट होने के बाद कोर्सेस को शुरू किये जाने का प्रयास किया जा रहा है. देखा जा रहा है कि रोक क्यों लगाई गई है?

-प्रो. राबिन एल प्रसाद,

रजिस्ट्रार शुआट्स