इस्लामाबाद (पीटीआई)। एक तरफ पाकिस्तान आर्थिक संकट से जूझ रहा है, वहीं दूसरी ओर वहां शिक्षा की बदहाली को लेकर भी चौंका देने वाला खुलासा हुआ है। संयुक्‍त राष्‍ट्र ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि पाकिस्‍तान की मौजूदा शिक्षा व्यवस्था बेहद खराब है।उनका अनुमान है कि दुनिया के सतत विकास लक्ष्यों की साल 2030 तक की तय समय सीमा तक वहां हर चार में से सिर्फ एक ही बच्चा अपनी प्राथमिक शिक्षा पूरा करने में कामयाब होगा। इसके बाद पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' ने अपनी रिपोर्ट ने बताया कि यूनेस्‍को के आकड़ों से यह पता चलता कि अगले 12 सालों में पाकिस्‍तान अपनी शिक्षा के सिर्फ आधे लक्ष्‍य को ही हासिल कर पाएगा।

खर्च में कटौती के लिए अमेरिकी यात्रा के दैरान होटल की बजाय पाक राजदूत के घर पर रुक सकते हैं पीएम इमरान खान

50 प्रतिशत युवा भी नहीं कर पा रहें पढाई पूरी

डॉन ने बताया कि देश में फिलहाल शिक्षा की जो हालत है, उससे यह पता चलता है कि 50 प्रतिशत युवा भी उच्च माध्यमिक तक की पढ़ाई पूरी नहीं कर पा रहे हैं। यूनेस्को इंस्टीट्यूट फॉर स्टेटिस्टिक्स के निदेशक सिल्विया मोंटोया ने कहा, 'पाकिस्‍तान को अपनी प्रतिबद्धताओं का सामना करने की जरूरत है। अगर पाकिस्‍तान लक्ष्‍यों को पूरा नहीं कर सकता है तो इसे तय करने का क्या मतलब है? समय सीमा के करीब पहुंचने से पहले इस डेटा अंतर को ठीक करने के लिए पाकिस्‍तान को बेहतर वित्‍त और समन्‍वय की जरूरत है।'

International News inextlive from World News Desk