-पांच दिसंबर के बाद फार्म जमा करने वाले स्टूडेंट्स से सीधे 2000 रुपये वसूलने की तैयारी

<-पांच दिसंबर के बाद फार्म जमा करने वाले स्टूडेंट्स से सीधे ख्000 रुपये वसूलने की तैयारी

--खुद की लचर व्यवस्था के बाद भी डेट बढ़ाने से आरयू के जिम्मेदारों का इनकार

<खुद की लचर व्यवस्था के बाद भी डेट बढ़ाने से आरयू के जिम्मेदारों का इनकार

BAREILLY:

BAREILLY: प्राइवेट स्टूडेंट्स को कमाई का सबसे कारगर कारगर हथियार बन चुके आरयू और कॉलेजेज ने स्टूडेंट्स को लूटने की एक और पुख्ता तैयारी कर ली है. अभी फॉरवर्डिंग फीस के डबल डोज से प्राइवेट स्टूडेंट्स उबर भी नहीं पाए थे कि आरयू ने लेट फी वसूलने की तैयारी कर ली. आरयू ने पहली बार में ही निर्धारित फीस के बराबर लेट फी चार्ज उगाही का डिसीजन लिया है. इससे सभी सकते में हैं, लेकिन मोटी कमाई करने वाले आरयू के आंखों पर पट्टी बंध चुकी है. स्टूडेंट्स को प्राइवेट फॉर्म भरने के लिए ज्यादा टाइम भी नहीं दिया गया. टेक्निकल गड़बडि़यों के चलते वे कॉलेज में फॉर्म जमा नहीं कर पा रहे हैं. लेकिन आरयू इनकी प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने के बजाय झ्ाोली भरने जुटा है.

अब तक डेढ़ लाख्ा से ज्यादा भर जा चुके

आरयू नॉन प्रैक्टिकल सब्जेक्ट्स बीए, बीकॉम, एमए और एमकॉम में प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए एग्जाम फॉर्म भरवाता है. अभी तक करीब डेढ़ लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स फॉर्म भर चुके हैं. अभी हर दिन औसतन क्0 से क्ख् हजार प्राइवेट स्टूडेंट्स फॉर्म भर रहे हैं. जबकि शुरुआत के दो दिन करीब भ् हजार स्टूडेंट्स ने फॉर्म भरा था. ऑनलाइन फॉर्म भरने की लास्ट डेट भ् जनवरी है. जबकि चालान जमा करने की लास्ट डेट 7 जनवरी और कॉलेज में प्रिंटेड फॉर्म जमा करने की लास्ट डेट 9 जनवरी है.

मोहलत नहीं, ख्000 रुपये उगाही

आरयू ने प्राइवेट स्टूडेंट्स को ऑनलाइन फॉर्म भरने की और मोहलत ना देने का मन बना लिया है. भ् जनवरी रात क्ख् बजे के बाद जितने भी फॉर्म भरे जाएंगे आरयू उनसे ख्000 रुपए लेट फी चार्ज करेगा. आरयू ने बाकायदा नोटिस जारी कर दी है. इस नए शेड्यूल के तहत स्टूडेंट्स क्0 जनवरी तक लेट फीस के साथ ऑनलाइन फॉर्म भर सकते हैं. बैंक में चालान जमा करने की लास्ट डेट क्ख् जनवरी और प्रिंटेड फॉर्म को कॉलेज में जमा करने की लास्ट डेट क्भ् जनवरी निर्धारित कर दी है.

मरहम लगाने के बजाय मनमानी

मेन एग्जाम के लिए आरयू ने पहली बार ऑनलाइन एग्जाम फॉर्म की प्रक्रिया शुरू की. तमाम टेक्निकल गड़बडि़यों के चलते शुरुआत में प्रक्रिया लड़खड़ा गई. जिस वजह से स्टूडेंट्स फॉर्म नहीं भर पा रहे हैं. लेकिन आरयू उनको और ज्यादा मोहलत न देते हुए लेट फी चार्ज करने जा रहा है. ख्0 दिसम्बर को अचानक ऑनलाइन फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू की. लेकिन बैंक से सर्वर लिंक ना होने के चलते उसे उसी दिन ही बंद करना पड़ा. करीब भ् दिन तक प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए वेबसाइट ठप रही. ख्भ् के बाद ही सुचारु हो सकी. लेकिन तब भी चालान काट नहीं पाए. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के ख्ब् घंटे बाद चालान जमा करने और ब्8 घंटे बाद फॉर्म का प्रिंटआउट लेने के निर्देश दिए गए. फिलहाल बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक और इलाहाबद बैंक में चालान जमा हो रहे हैं. सुचारु रूप से चालान जमा करने की प्रोसेस ख्9 दिसंबर से शुरू हुई.

और जवाब देने लगा सर्वर

ख्9 दिसम्बर से बैंक चालान जमा करने का काम सुचारु हुआ तो सभी जगह स्टूडेंट्स की लंबी लाइन लगने लगी. अचानक बैंकों पर प्राइवेट स्टूडेंट्स का दबाव इतना बढ़ गया कि सर्वर फिर गड़बड़ करने लगा. भारी दबाव के चलते बैंक से चालान अपडेट नहीं हो पा रहा है. एक अनुमान के मुताबिक करीब फ्0 परसेंट चालान अपडेट नहीं हुए हैं. जब चालान अपडेट नहीं होंगे स्टूडेंट्स अपने फॉर्म का प्रिंटआउट नहीं निकाल पाएंगे. चालान जमा करने के तीन-चार दिन बाद भी अपडेट नहीं हो पा रहा है. इसके चलते स्टूडेंट्स कॉलेज में फॉर्म जमा नहीं कर पा रहे हैं. पूर्व में ऑनलाइन फॉर्म भरने की लास्ट डेट फ्क् दिसम्बर थी. जिसे ख्9 दिसम्बर को बढ़ाकर भ् जनवरी कर दिया गया. आरयू ने बिना लेट फीस के साथ बढ़ाने से इंकार कर दिया है. स्टूडेंट्स की तमाम प्रॉब्लम्स को साल्व करने के बजाय उनपर अब लेट फीस का बोझ डालने की तैयारी की जा रही है.

कोट

प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए फॉर्म जमा करने की डेट एक बार बढ़ाई जा चुकी है. उनको काफी समय दिया गया. अब भ् जनवरी के बाद जो भी रजिस्ट्रेशन कराएगा उससे ख्000 रुपए लेट फीस वसूली जाएगी.

- एके सिंह, रजिस्ट्रार, आरयू