-108 कंट्रोल रूम की बड़ी लापरवाही उजागर

-सिटी स्टेशन के सामने कराह रही थी बीमार महिला

-

BAREILLY :

सिटी स्टेशन के सामने सैटरडे को एक महिला कराहती रही, लेकिन उसके इलाज के लिए 108 कंट्रोल रूम ने एम्बुलेंस देने से इनकार कर दिया. कंट्रोल रूम ने महिला को मनोरोगी करार देते हुए कह दिया कि किसी पागल को एम्बुलेंस मुहैया नहीं कराई जाती है. इस दौरान सड़क किनारे तड़प रही महिला ने दम तोड़, जिसके साथ 108 जीवनदायिनी सेवा की भी 'मौत' हो गई. महिला की मौत की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त कराने की कोशिश की, लेकिन नहीं हो सकी. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भ्ोज दिया.

आखिर नहीं पहुंची एम्बुलेंस

सुबह को हनुमान मंदिर में पूजा करने पहुंचे पवन ने 108 पर कॉल की तो उससे पहले नाम पूछा गया. जिस पर उसने अपना नाम पवन बताया. कंट्रोल रूम में तैनात महिला ने पूछा क्या प्रॉब्लम है तो पवन ने बताया कि एक बीमार महिला सड़क किनारे तड़प रही है, उसे हॉस्पिटल भेजना है. बीमार महिला के बारे में पूछताछ करने के बाद कंट्रोल रूम से जवाब मिला कि पागल महिला के लिए एम्बुलेंस नहीं मिलेगी. जब पवन ने कहा कि पागल नहीं है, वह अर्ध बेहोशी की हालत में तड़प रही है, बीमार है, वह बोल नहीं पा रही है. जिस पर कंट्रोल रूम पर तैनात महिला ने पूछा क्या प्रॉब्लम है बीमारी बताओ. इस पर पवन ने कहा कि वह बीमारी नहीं जानता है महिला को हॉस्पिटल भिजवा दो डॉक्टर देख लेंगे तो जान बच जाएगी. लंबी पूछताछ के बाद कंट्रोल रूम ने एड्रेस नोट किया और कहा कि डेढ़ घंटे इंतजार करिए. इसके बाद ही कोई एम्बुलेंस मिल पाएगी. फोन करने वाला युवक पवन काफी देर वहां खड़ा रहा, लेकिन एम्बुलेंस नहीं पहुंची. आखिर महिला की तड़पकर मौत हो गई.

108 कंट्रोल रूम से मिले दो जवाब: फोन रिसीव करने वाले कर्मचारी ने कहा कि वह मेंटल और शराब के नशे में धुत व्यक्ति को एम्बुलेंस मुहैया नहीं कराते हैं. जैसा कि सुबह कंट्रोल से फोन उठाने वाली महिला कर्मचारी ने भी कॉलर को यही जवाब दिया था.मामले में 108 के सीनियर अफसर से बात की गई तो उन्होंने प्राइवेसी ओपन न करने की बात कहते हुए नाम तो नहीं बताया, लेकिन उन्होंने कहा कि मेंटल और ड्रिंक के मामले में भी हम एम्बुलेंस अवेलेबल कराते हैं. हालांकि, वह यह जवाब नहीं दे सके कि जस्ट उनके निचले स्तर पर एम्बुलेंस न देने का जवाब क्यों मिला. कोऑर्डिनेशन का अभाव क्यों है.

108 कंट्रोल रूम से दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने सम्पर्क कियामेंटल और शराबी को नहीं देते एम्बुलेंस-