-यूपी बोर्ड ने पांच साल की मार्कशीट की ऑनलाइन

-द्वितीय अंकपत्र के लिए नहीं आना होगा क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय

varanasi@inext.co.in

VARANASI

दसवीं व बारहवीं के मार्कशीट की सेकेंड कॉपी पाने के लिए अब यूपी बोर्ड ऑफिस नहीं आना होगा. स्टूडेंट्स को घर बैठे ही मार्कशीट मिल जाएगी. यही नहीं आपको न्यूज पेपर में पब्लिश भी नहीं कराना होगा. कोई फीस भी नहीं देनी होगी. वेबसाइट के जरिये अब कहीं से भी 10वीं व 12वीं के मार्कशीट की सेकेंड कॉपी मिल जाएगी. खास बात यह कि द्वितीय अंकपत्र ऑनलाइन होने से दलाल अब स्टूडेंट्स को अपने जाल में फांस नहीं पाएंगे.

एकदम ओरिजनल जैसी

यूपी बोर्ड ने 2013 से 2018 तक का मार्कशीट ऑनलाइन कर दिया है. ऑनलाइन से द्वितीय अंकपत्र हासिल करने के लिए परीक्षार्थियों को बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर परीक्षाफल विंडो पर क्लिक करना होगा. इसके बाद सन्, रोल नंबर, क्लास (हाईस्कूल/इंटर) भरने के बाद प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा. कुछ ही सेकेंड में मार्कशीट आपके सामने होगी. खुशी की बात यह कि बोर्ड ने मार्कशीट में द्वितीय प्रतिलिपि का कोई उल्लेख नहीं किया है. ऐसे में ऑनलाइन से प्राप्त होने वाला मार्कशीट एकदम ओरिजिनल की तरह है.

नहीं काटना होगा चक्कर

गोरखपुर में क्षेत्रीय कार्यालय बनने के बाद अब वाराणसी से वाराणसी, मीरजापुर, आजगमढ़, फैजाबाद मंडल के 15 जिले ही जुड़े हैं. हालांकि सन् 2018 के पहले का टेबुलेशन रजिस्टर अब भी वाराणसी क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय के पास ही है. ऐसे में सन् 2018 के 26 जिलों के परीक्षार्थियों को संशोधन व द्वितीय अंकपत्र हासिल करने के लिए वाराणसी आना पड़ता रहा है. लेकिन अब स्टूडेंट्स को द्वितीय अंकपत्र के लिए वाराणसी नहीं आना पड़ेगा. क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय वाराणसी के अपर सचिव सतीश सिंह ने शुक्रवार को इससे रिलेटेड सूचना नोटिस बोर्ड पर चस्पा भी करा दी. इसमें स्टूडेंट्स, प्रिंसिपल व गार्जियंस से द्वितीय अंकपत्र सीधे वेबसाइट से प्राप्त करने की सलाह दी गई है.