यूपी बोर्ड परीक्षा के

- केंद्रों पर कक्ष निरीक्षक, स्टेटिक मजिस्ट्रेट की कमी को पूरा करने के लिए मांगी थी सूचना

- 35 केंद्रों के नियंत्रण कक्ष से नहीं मिला था जवाबए अफसरों ने नोटिस भेज मांगा था जवाब

<यूपी बोर्ड परीक्षा के

- केंद्रों पर कक्ष निरीक्षक, स्टेटिक मजिस्ट्रेट की कमी को पूरा करने के लिए मांगी थी सूचना

- फ्भ् केंद्रों के नियंत्रण कक्ष से नहीं मिला था जवाबए अफसरों ने नोटिस भेज मांगा था जवाब

BAREILLY

BAREILLY

: निरीक्षक और स्टेटिक मजिस्ट्रेट की कमी से जूझने के बाद भी नियंत्रण कक्ष की ओर से सूचना नहीं देने पर अफसरों ने सख्ती दिखाई थी. अफसरों की यह सख्ती काम कर गई़. नोटिस मिलने के बाद कार्रवाई के डर से संडे को इन व्यवस्थापकों ने सूचना देने में तेजी दिखाई़. कुछ केंद्र व्यवस्थापकों ने खुद फोन करके निरीक्षक, अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक व स्टेटिक मजिस्ट्रेट को जानकारी दी.

डीएम ले रहे अपडेट

क्ख् फरवरी को हाईस्कूल व इंटरमीडिएट का ¨हदी का पेपर है़. प्रशासन परीक्षा से पहले केंद्रों में सारी व्वस्थाएं दुरुस्त करने में जुटा है़. डीएम भी पल-पल की रिपोर्ट ले रहे हैं़.

कमी पूरी करने में लगे

संडे को नियंत्रण कक्ष से सबसे पहले उन सभी केंद्रों को फिर से फोन मिलाया गया़, जिन्होंने सैटरडे को फोन नहीं उठाया था़. इसके बाद शेष केंद्रों की स्थिति चेक की गई़. बोर्ड परीक्षा में ड्यूटी पर लगाए गए शिक्षकों को तलब किया और उन्हें संबंधित केंद्रों पर पहुंचने के निर्देश दिए. देर शाम तक अधिकांश केंद्रों पर कमी पूरी करने का अफसरों ने दावा किया़. बचे हुए केंद्रो पर मंडे दोपहर तक इसे भी पूरा करने का दम भरा़.

बीएसए ने िदखाई सख्ती

बेसिक शिक्षा विभाग से भी शिक्षक, शिक्षा मित्र व अनुदेशक भी बोर्ड परीक्षा ड्यूटी में लगाए गए हैं़. इनमें से अपने परीक्षा केंद्रों पर नहीं पहुंचने वालों को बीएसए ने सख्त हिदायत दी़. कार्यभार ग्रहण करने के निर्देश दिए़.

चंद्रशेखर आजाद का नहीं मिला फोन

नियंत्रण कक्ष से संडे को कई केंद्रों को फोन मिलाए़ गए, जिसमें आंवला के चंद्रशेखर आजाद इंटर कॉलेज परीक्षा केंद्र का फोन बंद मिला़. जबकि बोर्ड परीक्षाओं के दौरान सभी केंद्र व्यवस्थापक को नंबर चालू रखने के निर्देश दिए हैं़.

तो फिर तुरंत होगी एफआइआर

परीक्षा की गोपनियता बनाए रखने के लिए अफसर सचेत हो गए हैं़. पेपर लीक करने वालों पर नरमी नहीं बरती जाएगी़. नकल करने व कराने पर एफआइआर दर्ज कर जेल भेजा जाएगा. डीएम ने परीक्षा प्रभावित करने वालों पर सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं़. सभी जिला व मंडलीय सचल दलों अलर्ट किए गए हैं़. जिले के चार अतिसंवेदनशील व क्7 संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर जोनल, सेक्टर, स्टेटिक मजिस्ट्रेट को विशेष निगरानी के निर्देश दिए हैं़.

==========================

संडे देर शाम तक अधिकांश केंद्रों पर कक्ष निरीक्षक व स्टेटिक मजिस्ट्रेट पहुंच गए हैं़. शनिवार को फोन नहीं उठाने वाले केंद्रों ने भी आपेक्षित जानकारी देकर सहयोग किया़.

--डॉ. अवनीश यादव, यूपी बोर्ड परीक्षा नियंत्रक़.