यूपी बोर्ड नए सत्र से एनसीईआरटी पैटर्न को अपनाने की तैयारी में जुटा

बोर्ड की विशेष टीम उत्तराखण्ड व झारखण्ड में सर्वे के लिए भेजी गई

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सूबे में सत्ता परिवर्तन का असर यूपी बोर्ड में तेजी से दिख रहा है. कई तरह के बदलावों के बीच बोर्ड ने सिलेबस में भी एनसीईआरटी पैटर्न को अपनाने की प्रक्रिया शुरू की है. नए सत्र से एनसीईआरटी की बुक्स को अपनाने की तैयारी में जुटे यूपी बोर्ड ने किताबों के सही प्रकार के वितरण की व्यवस्थाओं पर भी वर्क शुरू कर दिया है. इसी के तहत बोर्ड से दो विशेष टीमें उत्तराखण्ड व झारखण्ड भेजी गई हैं. वहां ये एनसीईआरटी बुक्स के वितरण में आने वाली समस्याओं को समझने का प्रयास करेंगी. टीम एक सर्वे भी करेगी, जिससे वितरण व्यवस्था को सही प्रकार से लागू किया जा सके.

तीन दिन पहले टीमें रवाना

उत्तराखण्ड व झारखण्ड के दौरे पर गई टीमों के बारे में जानकारी देते हुए बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि एनसीईआरटी के सिलेबस को अपनाने के बाद सबसे बड़ी समस्या किताबों के सही प्रकार से वितरण की है. इसमें कोई कमी ना रहे और सही प्रकार से पूरी प्रक्रिया को एक्जीक्यूट कराया जा सके, इसके लिए बोर्ड की ओर से कदम उठाए जाएंगे. इन्हीं बारीकियों को जानने के लिए टीम भेजी गई है. वहां से आने के बाद टीमें सभी बिन्दुओं पर अपनी रिपोर्ट देंगी.