- यूपी बोर्ड और सीबीएसई बोर्ड के तीन साल के रिजल्ट में 10 फीसद का अंतर

- यूपी बोर्ड में इस साल सीबीएसई पैटर्न लागू होने के बाद भी रिजल्ट में गिरावट

LUCKNOW: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) बोर्ड में स्टूडेंट्स को 500 में से 499 मा‌र्क्स, वहीं आईएससी में टॉपर को सौ प्रतिशत मा‌र्क्स मिले। वहीं नंबरों की इस बारिश के बावजूद सीबीएसई और स्टेट बोर्ड के बीच काफी अंतर है। यह हालात तब हैं जब यूपी बोर्ड भी सीबीएसई बोर्ड का सिलेबस फॉलो हो रहा है। सीबीएसई और यूपी बोर्ड के पिछले तीन सालों के हाईस्कूल व इंटर के रिजल्ट का आंकलन करें तो पता चलता है कि यूपी बोर्ड और सीबीएसई बोर्ड में 10 फीसद का अंतर है। केवल 2017 में सीबीएसई और यूपी बोर्ड का इंटर का रिजल्ट 82 प्रतिशत रहा था। तब यूपी बोर्ड में पुराना सिलेबस पढ़ाया जाता था। वहीं सीआईएससीई बोर्ड के मुकाबले स्टेट बोर्ड का अंतर और बढ़ जाता है।

सीआईएससीई का रिजल्ट बेहतर

इस बार सबसे बेहतर सीआईएससीई बोर्ड का रिजल्ट रहा।

2019 में सीआईएससीई बोर्ड में आईएससीई 10वीं में 98.54 फीसद और आईएससी 12वीं में 96.52 फीसद स्टूडेंट्स पास हुए हैं। इसके बाद सीबीएसई का नंबर आता हैं। सीआईएससीई बोर्ड का रिजल्ट तीन साल में हर साल बढ़ा है। वहीं यूपी बोर्ड के इंटर का रिजल्ट इस साल करीब ढ़ाई फीसद गिरा है।

80 से 90 फीसद लाने वाले बढ़े

अमीनाबाद इंटर कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल और एसएसजेडी के डायरेक्टर डॉ। जेपी मिश्रा ने बताया कि पहले यूपी बोर्ड में फ‌र्स्ट क्लास लाना बड़ी बात थी। अब फ‌र्स्ट क्लास वालों की संख्या बढ़ी है। 80 व 90 प्रतिशत मा‌र्क्स आ रहे हैं। अब सीबीएसई व सीआईएससीई में 99 व 100 प्रतिशत मा‌र्क्स मिल रहे हैं। यूपी बोर्ड में इस साल से सीबीएसई का पैटर्न लागू हुआ है। टॉप स्टूडेंट्स को 97 फीसद से अधिक मा‌र्क्स मिले हैं। 90 प्रतिशत पाने वाले स्टूडेंट्स की संख्या दूसरे बोर्ड की तुलना में काफी है। वहीं सीआईएससीई व सीबीएसई में 90 फीसद वालों की संख्या हजारों में हैं।

बॉक्स

बोर्ड रिजल्ट का ग्राफ

वर्ष 2019

बोर्ड 10वीं 12वीं

यूपी बोर्ड 80.07 फीसद 70.02 फीसद

सीबीएसई 91.1 फीसद 83.3 फीसद

सीआईएससीई 98.54 फीसद 96.52 फीसद

वर्ष 2018

बोर्ड 10वीं 12वीं

यूपी बोर्ड 75.16 फीसद 72.43 फीसद

सीबीएसई 86.7 फीसद 83.01 फीसद

सीआईएससीई 98.51 फीसद 96.21 फीसद

वर्ष 2017

बोर्ड 10वीं 12वीं

यूपी बोर्ड 81.18 फीसद 82.62 फीसद

सीबीएसई 90.9 फीसद 82.02 फीसद

सीआईएससीई 98.53 फीसद 96.47 फीसद

बाक्स

टॉपर्स के नंबरों में ज्यादा अंतर नहीं

सीबीएसई बोर्ड

10वीं- 13 स्टूडेंट्स के 99.8 फीसद

12वीं- 02 स्टूडेंट्स के 99.8 फीसद

यूपी बोर्ड

10वीं- टॉपर्स का 97.17 फीसद

12वीं- टॉपर्स का 97.80 फीसद

सीआईसीएसई बोर्ड

10वीं- 02 स्टूडेंट्स के 99.60 फीसद

12वीं- 02 स्टूडेंट्स के 100 फीसद

बॉक्स

रिजल्ट सुधारने के लिए उठाए कदम

माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव नीना श्रीवास्तव का कहना है कि यूपी बोर्ड में इस साल सीबीएसई पैटर्न से बोर्ड परीक्षा कराई गई। यूपी बोर्ड के स्टूडेंट्स को सीबीएसई व सीआईसीएसई बोर्ड के स्टूडेंट्स के बराबर लाने के लिए कई कदम उठाए हैं। परिषद ने पहले नंबरों में उदारता नहीं दिखाता था। अब स्टेप मार्किंग की व्यवस्था शुरू की है। साथ ही नकल माफिया पर अंकुश लगाया गया हैं। इसका असर आने वालों वर्षो में रिजल्ट पर दिखेगा।