-यूपी कॉलेज के संस्थापक राजर्षि जूदेव की मनी जयंती

-बोले, नौवीं के स्टूडेंट नहीं सॉल्व कर पा रहे कक्षा तीन के क्वेश्चंस

varanasi@inext.co.in

VARANASI

श्रेष्ठ शैक्षिक संस्थाओं से ही दुनिया की तकदीर बदली जा सकती है. शिक्षण संस्थाओं के बल पर ही अमेरिका आज दुनिया में श्रेष्ठ है. जबकि भारत में कक्षा नौवीं के छात्र तीसरी कक्षा के सवाल नहीं हल कर पा रहे हैं. यह हम सभी के लिए चिंता का विषय है. ये बातें राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने कहीं. सोमवार को वह यूपी कॉलेज में संस्थापक राजर्षि उदय प्रताप सिंह 'जूदेव' की 168वीं जयंती समारोह में चीफ गेस्ट थे. कहा कि पहले संसाधन कम थे. इसके बाद भी सीवी रमन, पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम जैसे लोग पैदा हुए. पर अब शैक्षिक संस्थाओं में बेहतर संसाधन व शिक्षकों को अच्छा वेतन मिलने के बाद भी पहले जैसे विद्यार्थी नहीं निकल रहे हैं.

आज रहेगा अवकाश

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के वीसी प्रो. टीएन सिंह ने कहा कि यूपी कॉलेज के गौरव में ही विद्यापीठ का गौरव है. भदोही के सांसद वीरेंद्र सिंह ने जेएनयू में देश विरोधी नारे का जिक्र करते हुए अभिव्यक्ति की आजादी पर एक सीमा तय करने की बात कही. शिक्षक विधायक चेतनारायण सिंह, संस्था के सचिव यूएन सिन्हा सहित अन्य लोगों ने भी विचार व्यक्त किए. अध्यक्षता उदय प्रताप शिक्षा समिति के अध्यक्ष जस्टिस डीपी सिंह ने, संचालन डॉ. अरविंद कुमार सिंह व धन्यवाद प्रिंसिपल डॉ. विजय बहादुर सिंह ने दिया. बच्चों ने विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति कर खूब वाहवाही लूटी. संस्थापक राजर्षि जयंती के उपलब्ध में चार सितंबर को यूपी कॉलेज की पांचों यूनिट में अवकाश रहेगा.