lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में किस दल की सरकार बनेगी, यह हमेशा यूपी की जनता ने ही तय किया है। सियासत के मामले में गहरी पकड़ रखने वाले यूपी के बाशिंदों का मूड इस बार एग्जिट पोल भी नहीं भांप पाया। यही वजह है कि तमाम एग्जिट पोल में जहां यूपी में गठबंधन की प्रचंड जीत के दावे किए जा रहे थे, चुनाव नतीजे आने के साथ ही वे धराशायी होते चले गये। यूं कहे कि यूपी की जनता ने एक बार फिर साबित कर दिया कि देश या प्रदेश की सरकार चुनने में उसकी राजनीतिक सूझ-बूझ का कोई सानी नहीं है। चुनाव के नतीजे भाजपा का उत्साह बढ़ाने के साथ यह इशारा भी कर रहे हैं कि उसके लिए आगे की डगर आसान नहीं है।

Amethi Lok Sabha Election Result 2019: अब राहुल नहीं, स्मृति की अमेठी


UP Lok Sabha Election Result 2019: उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने मारी बाजी, गठबंधन के टूटे सपने

45 सीटें तक मिलने का अनुमान
विगत 19 मई को सातवें चरण का मतदान खत्म होने के बाद खबरिया चैनलों पर एग्जिट पोल आने का सिलसिला शुरू हुआ तो भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलने के दावे किए जाने लगे। इस दौरान यूपी को लेकर आए आंकड़ें आपस में खासा फर्क दिखा रहे थे। एबीपी न्यूज-सी वोटर्स ने अपने एग्जिट पोल में भाजपा को 33 जबकि गठबंधन को 45 सीटें देकर सबको चौंका दिया था जो चुनाव नतीजे आने के बाद गलत साबित हो गया। इसी तरह इंडिया टुडे-एक्सिस के एग्जिट पोल में भाजपा को 62-68 सीटें मिलने का दावा किया गया था जबकि महागठबंधन को केवल 10 से 16 सीटें मिलने की बात कही गयी थी। यह एग्जिट पोल काफी हद तक चुनाव नतीजों के नजदीक नजर आ रहा है। वहीं न्यूज 24-चाणक्य ने अपने एग्जिट पोल में भाजपा को 65 और महागठबंधन को 13 सीटें दी थी, उनका यह आंकलन भी काफी हद तक सही साबित हुआ है।