-फूड प्लाजा की सुविधाएं बढ़ाने पर रोडवेज का जोर

-मनचाहे ढाबे पर बस नहीं रोक पाएंगे ड्राइवर और कंडक्टर

GORAKHPUR: रोडवेज की बसों से यात्रा करने वाले यात्रियों को ड्राइवर और कंडक्टर की मनमानी का शिकार नहीं होना पड़ेगा. रास्ते में किसी ढाबे या रेस्टोरेंट पर जबरन बस खड़ी कर यात्रियों को भोजन कराने से जहां राहत मिलेगी. वहीं, होटल संचालक भी मनमाना रेट नहीं वसूल सकेंगे. फूड प्लाजा पर रुकने वाली बसों के यात्रियों को नाश्ते में छूट दी जाएगी. खाने-नाश्ते के सामान में किसी तरह की गड़बड़ी होने पर यात्री अपनी शिकायत भी दर्ज करा सकेंगे. कंप्लेन रजिस्टर में दर्ज सूचनाएं मुख्यालय को भेजी जाएगी.

परिवहन निगम उपलब्ध कराएगा कंप्लेन नंबर

प्रदेश भर में रोडवेज की बसों से यात्रा करने के दौरान शिकायतें सामने आती हैं. रोडवेज बसों के कंडक्टर और ड्राइवर मनमानी तरीके से बसों को जहां-तहां ढाबों पर रोक देते हैं. वहां मिलने वाली खाद्य सामग्री लेने की मजबूरी से यात्री परेशान हो जाते हैं. कभी-कभार ऐसा भी होता है कि किसी तरह की शिकायत करने पर होटल संचालक भिड़ जाते हैं. तमाम शिकायतों के सामने आने पर परिवहन निगम ने इसका विकल्प निकाला है. सभी रीजन के रीजनल मैनेजर की सलाह पर एक प्रोजेक्ट बनाकर दिया गया है. व्यवस्था लागू होने पर पैंसेजर्स परिवहन निगम के कंप्लेन नंबर पर शिकायत भी दर्ज करा सकेंगे.

सस्ते में मिलेगा भोजन, नाश्ता पानी

रोडवेज के अधिकारियों का कहना है कि नई योजना में यात्रियों को नाश्ते और भोजन के रेट में छूट भी मिलेगी. फूड प्लाजा पर बेहतर सुविधा देने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है. फूड प्लाजा पर मिलने वाले सामान पर यात्रियों को पांच से 10 रुपए की छूट दी जाएगी. फूड प्लाजा पर मीनू कार्ड भी मिलेगा, जिस पर वहां उपलब्ध खाद्य सामग्री का रेट छपा रहेगा. उस रेट से ज्यादा दाम मांगने पर कार्रवाई भी होगी. साथ ही कैशलेस योजना के तहत फूड प्लाजा पर पैंसेजर्स डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, फोन पे की सुविधा भी पा सकेंगे.

इस तरह का मिलेगा लाभ

प्रदेश भर में फूड प्लाजा पर समान व्यवस्था उपलब्ध कराई जाएगी.

फूड प्लाजा पर बिकने वाले कई आइटम के दाम सभी जगहों पर एक होंगे.

ब्रांडेंड कंपनियों के किसी आइटम के रेट पर कोई बदलाव नहीं कर सकेंगे.

पैंसेजर्स की सुविधा को देते हुए फूड प्लाजा पर मिलने वाले सामान पर रियायत दी जाएगी.