pankaj.awasthi@inext.co.in

LUCKNOW (8 Jan): बाढ़, भूकंप और बड़े एक्सीडेंट के दौरान घायलों को रेस्क्यू करने के लिये प्रदेश सरकार द्वारा गठित एसडीआरएफ अब जैविक, रासायनिक ओर परमाणु हमले की सूरत में भी लोगों को रेस्क्यू करने की भी कूवत हासिल करेगी. इसके लिये जल्द ही तीन कंपनियों का गठन किया जाएगा. जिसमें तैनात होने वाले जवानों को पीएसी से लिया जाएगा. वहीं, वर्तमान में गठित तीन कंपनियों को नेशनल डिजास्टर रेस्क्यू फोर्स ट्रेनिंग देगी. जल्द ही यह ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू होगा.

जल्द पूरी होगी भर्ती प्रक्रिया

आईजी पीएसी ए. सतीश गणेश ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा पहले चरण में स्टेट डिजास्टर रेस्क्यू फोर्स के लिये स्वीकृत 265 पदों के सापेक्ष 200 पदों पर भर्ती हो गई है. जबकि, बाकी 75 पदों पर भी भर्ती की प्रक्रिया जल्द पूरी कर ली जाएगी. उन्होंने बताया कि फिलवक्त एसडीआरएफ में तीन कंपनियां गठित की गई हैं. हर कंपनी में तीन प्लाटून होंगी. इनमें एक प्लाटून को बाढ़, एक प्लाटून को भूकंप और एक प्लाटून को बड़े रेल अथवा सड़क हादसे में लोगों को रेस्क्यू करने की ट्रेनिंग दी जाएगी. इन जवानों को गाजियाबाद स्थित नेशनल डिजास्टर रेस्क्यू फोर्स के ट्रेनिंग सेंटर में टे्रनिंग दी जाएगी.

इस टोल फ्री नंबर पर कॉल करें, घर बैठे आधार से जुड़ जाएगा आपका मोबाइल नंबर

हर कंपनी में अलग-अलग एक्सपर्ट

आईजी गणेश ने बताया कि बाढ़, भूकंप और मलबे में दबे लोगों को रेस्क्यू करने के लिये कंपनियों की ट्रेनिंग जल्द पूरी होगी और उन्हें ड्यूटी पर तैनात किया जाएगा. वहीं, इसके बाद दूसरे चरण में तीन और कंपनियां गठित करने की योजना है. यह कंपनियां रासायनिक, जैविक या परमाणु हमले की सूरत में लोगों को रेस्क्यू करने में पारंगत होंगी. इनमें भी हर कंपनी में तीन प्लाटून होंगीं, एक प्लाटून जैविक, एक रासायनिक और एक परमाणु हमले की स्थिति से निपटने की जानकार होंगी. बताया जा रहा है कि इन कंपनियों के गठन के लिये डीजीपी कार्यालय से जल्द ही सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा.

एलर्ट अब बैंक धीरे-धीरे काटेंगे आपकी जेब, जानिए कैसे...

लोगो व ड्रेस को लेकर मंथन

स्टेट डिजास्टर रेस्क्यू फोर्स के जवानों की भर्ती और उन्हें ट्रेनिंग पर भेजने के साथ ही उनके लिये वर्दी और फोर्स के लोगो पर भी मंथन किया जा रहा है. आईजी ए. सतीश गणेश ने बताया कि विचार-विमर्श के बाद वर्दी और लोगो तय होने पर इसे मंजूरी के लिये शासन को भेजा जाएगा.

शासन द्वारा स्वीकृत तीन कंपनियों की ट्रेनिंग जल्द ही शुरू की जायेगी. इसके अलावा जैविक, रासायनिक और परमाणु हमले से निपटने के लिए भी तीन कंपनी गठित करने की योजना है. - ए. सतीश गणेश, आईजी पीएसी


गर्लफ्रेंड ने की शादी की जिद, तो उसे ऑस्‍ट्रेलिया छोड़कर भाग आया, फिर....

National News inextlive from India News Desk