Meerut: हाईवे पर 27 अप्रैल को दुल्हन की हत्या कर लूटकांड को अंजाम देने वाले लुटेरे पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं. एसटीएफ ने 3 आरोपियों की धर दबोचा है जबकि अन्य बदमाशों की तलाश अभी जारी है.


लूटपाट था इरादा

बुधवार शाम एसएसपी ने प्रेसवार्ता कर बताया कि पकड़े गए बदमाशों में अक्षय उर्फ गोलू हाईवे पर लूटपाट के गैंग का सरगना है. पूछताछ में ग्राम ढढरा थाना जानी, मेरठ निवासी बदमाश अक्षय पुत्र वेदपाल ने बताया कि वारदात की रात वे (बदमाश) शिकार के इरादे से स्विफ्ट डिजायर कार में हाइवे पर निकले थे. कार में अक्षय के अलावा मोदीनगर (गाजियाबाद) निवासी सूरज, शताब्दीनगर मेरठ निवासी धीरज चौधरी पुत्र मनवीर सिंह और मोदीनगर (गाजियाबाद) निवासी हिमांशु उर्फ नरसी पुत्र प्रमोद सिंघल सवार थे. रात्रि करीब 9:30 बजे हाईवे स्थित एक मेडिकल कॉलेज के सामने बदमाशों की नजर सजी-धजी स्विफ्ट डिजायर कार पर पड़ी. कार में दूल्हा-दुल्हन के अलावा कुछ और लोग सवार थे.


विरोध पर मार दी गोली

अक्षय ने बताया कि पीछा करते हुए मटौर गांव के समीप ओवरटेक कर कार को रोक लिया. इसी बीच बदमाश हिंमाशु ने गाड़ी की चाबी निकाल ली और हथियार दिखाकर दुल्हन से गहने छीनने का प्रयास किया. विरोध किया तो हिमांशु ने दुल्हन को तमंचे से उसे गोली मार दी. लहूलुहान दुल्हन सड़क पर तड़प रही थी तो वहीं बदमाशों ने उसके शरीर से गहने लूट लिए. इसी बीच अन्य बदमाशों ने दूसरे दूसरी महिला के पर्स से पैसे आदि लूट लिए. इस बीच कार सवार अन्य लोगों ने विरोध किया तो धीरज ने भी एक फायर कर दिया. गोली हड़बड़ाहट में बदमाश हिंमाशु के हाथ को घायल करती हुई निकल गई.

मोदीनगर में कराया इलाज

बदमाशों ने बताया कि लूट की स्विफ्ट कार को कच्चे रास्तों से मोदीनगर पहुंचे और वहीं पर पीछे सूरज बदमाशों की कार लेकर आ गया. इसके बाद सभी ने हिंमाशु का इलाज मोदीनगर स्थित एक निजी अस्पताल में कराया. बुधवार को पकड़े गए बदमाश अक्षय के अलावा मोदीनगर निवासी विपिन शर्मा पुत्र मुन्नालाल और विशाल चौधरी पुत्र देवेंद्र चौधरी ने बताया कि बीती 24 फरवरी को बिगबाइट होटल के सामने बाईपास पर मालिक को गोली मारकर एक वर्ना कार भी लूटी थी. गाड़ी का नंबर बदलकर उसे मोदीनगर में पार्किंग में खड़ा कर दिया था. एसटीएफ ने वर्ना कार भी बरामद कर ली.

मेरठ एसटीएफ यूनिट ने पकड़ा

एसएसपी ने पुलिस लाइन में आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि इस हत्या और लूटकांड का पर्दाफाश एसटीएफ ने किया है. आईजी एसटीएफ अभिताभ यश, एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह के निर्देशन में एएसपी एसटीएफ आलोक प्रियदर्शी, सीओ एसटीएफ ब्रजेश कुमार सिंह और इंस्पेक्टर धमेंद्र यादव की टीम ने बुधवार दोपहर हाइवे पर बदमाशों को घेराबंदी कर दबोचा. प्रेसवार्ता में एसपी सिटी श्रीप्रकाश द्विवेदी, एसपी ट्रैफिक संजीव बाजपेयी आदि पुलिस अधिकारी मौजूद थे. पकड़े गए बदमाशों से पुलिस ने कुछ जेवरात और 6500 रुपये नकदी बरामद की है. आला-ए-कत्ल 315 बोर का तमंचा और 2 कारतूस भी पुलिस को मिले हैं.

Crime News inextlive from Crime News Desk